बुधवार को कैसा रहा शेयर बाजार

कंज्युमर ड्युरेबल्स और एफएमसीजी के अलावा सभी सेक्टर बढ़े, मार्केट कैप में 1.22 लाख करोड़ रु. की बढ़त
> बीएसई के सेंसेक्स में बुधवार दिनांक 23 अगस्त, 2017 को पिछले कारोबारी दिन के 31291.85 अंकों के बंद मुकाबले 276.16 अंकों की बढ़त दर्ज की गयी। 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 31407.47 अंकों पर खुला जो ऊपर में 31593.39 अंकों तक जाकर तथा नीचे में 31379.25 अंकों तक आकर अंतत: 0.88 प्रतिशत बढ़कर 31568.01 पर बंद हुआ।
> बीएसई में बुधवार को मार्केट कैपिटलाइजेशन 129.84 लाख करोड़ रु. रहा जो पिछले कारोबारी दिन 128.62 लाख करोड़ रु. था।
> एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स की 24 कंपनियां बढ़ी तथा 6 कंपनियां घटी ।
> बुधवार को ब्राड बेस्ड सूचकांकों में एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 50- 0.89 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स नेक्स्ट 50- 1.36 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई-100 सूचकांक 0.96 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई मिडकैप- 1.38 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई स्मॉलकैप- 1.21 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- 200 सूचकांक 0.97 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- 500 सूचकांक 1.00 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- ऑलकैप सूचकांक 0.97 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- लार्जकैप सूचकांक 0.88 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई स्मॉलकैप सेलेक्ट इंडेक्स 1.30 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई मिडकैप सेलेक्ट इंडेक्स- 1.49 प्रतिशत बढ़े।
> सस्टेनेबिलिटी इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई कार्बनएक्स- 0.95 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई ग्रीनएक्स- 0.86 प्रतिशत बढ़े।
> थिमेटिक्स इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई भारत 22 इ़ंडेक्स- 0.67 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई इंडिया इन्फ्रास्ट्रक्चर इंडेक्स 0.98 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई इंडिया मैन्युफेक्चरिंग इंडेक्स 0.54 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई पीएसयू 1.20 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई सीपीएसई 0.92 प्रतिशत बढ़े।
> स्ट्रेटेजी इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई आईपीओ 1.14 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई एसएमई आईपीओ 0.76 प्रतिशत बढ़ा।
> सेक्टरल सूचकांकों मे सर्वाधिक बढ़नेवाले 5 सूचकांक रियल्टी (3.48 प्रतिशत), मेटल (1.81 प्रतिशत), टेलिकॉम (1.78 प्रतिशत), बेसिक मेटेरियल (1.52 प्रतिशत) और फाइनेंस (1.49 प्रतिशत) रहे।
> सेक्टरल सूचकांकों मे घटनेवाले सूचकांक कंज्युमर ड्युरेबल्स (0.75 प्रतिशत) और एफएमसीजी (0.04 प्रतिशत) रहे।
> सेंसेक्स में बढ़नेवाली कंपनियों में अदानी पोर्ट्स (2.79 प्रतिशत), भारती एयरटेल (2.41 प्रतिशत), टाटा स्टील (2.28 प्रतिशत), डॉ. रेड्डीज लैब (2.25 प्रतिशत), इंफोसिस (1.98 प्रतिशत), टाटा मोटर्स (1.81 प्रतिशत), स्टेट बैंक (1.70 प्रतिशत), आईसीआईसीआई बैंक (1.67 प्रतिशत), एनटीपीसी (1.37 प्रतिशत), एचडीएफसी बैंक (1.29 प्रतिशत), रिलायंस (1.15 प्रतिशत), ल्युपिन (1.12 प्रतिशत) और मारुति (1.03 प्रतिशत) मुख्य रहीं।
> सेंसेक्स में घटनेवाली कंपनियों में हिंदुस्तान यूनिलीवर (1.05 प्रतिशत), सनफार्मा (0.45 प्रतिशत) और आईटीसी (0.28 प्रतिशत) मुख्य रहीं।
> बुधवार को कुल 152 कंपनियों पर ऊपर का तथा 164 कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा, जिनमें ``बी'' ग्रुप की 27 कंपनियों पर ऊपर का एवं ``बी'' ग्रुप की 8/ कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा।
> बीएसई पर कुल 2714 स्क्रिपों के सौदे हुए, जिनमें 1617 शेयरों के भाव बढ़े, 962 शेयरों के भाव घटे और 135 शेयरों के भाव यथावत रहे।
> आज इक्विटी में कुल 3,105.53 करोड़ रु. का कारोबार हुआ, जिसमें 20.05 करोड़ शेयरों के लिए 10.90 लाख सौदे हुए। <
> बुधवार को बीएसई में करंसी डेरिवेटिव्स में कुल 13,399.31 करोड़ रु. का कारोबार हुआ, जिसमें यूएस डॉलर-रुपये (फ्यूचर्स) में 4,748.23 करोड़ रुपये और यूएस डॉलर -रुपये (ऑप्शन्स) में 8,583.01 करोड़ रुपये का

कामकाज हुआ।

सरकार के लिए लोगों का कल्‍याण और नागरिकों की खुशी सर्वोपरि: प्रधानमंत्री 
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि सरकार के लिए लोगों का कल्‍याण और नागरिकों की खुशी सर्वोपरि है। उन्‍होंने कहा कि सरकार हमेशा राष्‍ट्र को ऊंचा उठाने के बारे में सोचा करती है। आज नई दिल्‍ली में नीति आयोग द्वारा आयोजित मुख्‍य कार्यकारी अधिकारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा कि प्रत्‍येक नागरिक में यह भावना होनी चाहिए कि यह देश उसका है और उसे इसके लिए कुछ कर दिखाना है। श्री मोदी ने उद्योग जगत के प्रतिनिधियों से यह सोचने को कहा कि वे गरीब से गरीब व्‍यक्ति के लिए और अधिक क्‍या कर सकते हैं। श्री मोदी ने कहा कि अगर यह पीढ़ी देश की विशिष्‍ट समस्‍याओं का व्‍यवहारिक हल निकालने के बारे में सोचे तो रोजगार और बाजार अपने आप पैदा हो जायेंगे। गांधी ने आजादी को मास मूवमेंट में कंवर्ट कर दिया और मास मूवमेंट में कंवर्ट किया तो आपने देखा कि कितना बडा परिणाम मिला। हमें देश को यहां ले जाना है, हम यह करके रहेंगे, ये मुझे माहौल बनाना है। इस मंथन से मुझे आप लोगों कि बहुत जरूरत है कि आप जहां हैं वहां जिन लोगों के बीच में हैं आप भी एक समृद्ध भारत के सैनिक बन सकते हैं।  प्रधानमंत्री ने कहा कि यूरिया के उत्‍पादन के लिए सुचारू रूप से गैस की आपूर्ति के तमाम कानूनों को तर्कसंगत बनाना, किसानों का कल्‍याण सुनिश्चित करने की दिशा में सरकार की एक बड़ी पहल है। प्रधानमंत्री ने कहा कि नीम लेपित यूरिया से बड़े पैमाने पर इसकी हेराफेरी रोकी जा सकी है। यूरिया इंडस्ट्री फैक्‍ट्री को गैस चाहिए। हमारे यहां गैस की वायरैटीज ऑफ पॉलिसीज थी। हमने सबको नेशनलाइज कर दिया। आज परिणाम यह है कि सरकार के पैसे तो बचे लेकिन 20 लाख टन यूरिया उसी कारखाने में से उसी व्‍यवस्‍था से एक्‍ट्रा पैदा होने लगा। प्रोडेक्‍टीविटी बढ गई। हमने यूरिया का नीमकोटिंग कर दिया। नीमकोटिंग करने के बाद एक ग्राम भी यूरिया किसी और काम में आ ही नहीं सकता सि‍वाए की जमीन में डालो। प्रधानमंत्री ने नीति आयोग से विदा हो रहे उपाध्‍यक्ष डा0 अरविन्‍द पनगडिया की सराहना की और कहा कि उन्‍होंने आयोग को नई ऊंचाई पर पहुंचाया है।  नीति आयोग उभरती प्रतिभाओं के मार्गदर्शन के लिए समुचित और सक्षम नेतृत्‍व प्रदान करने वाले व्‍यक्तियों की तलाश के लिए मेंटर इंडिया कैम्‍पेन के नाम से एक महत्‍वपूर्ण कार्यक्रम शुरू कर रहा है। नेतृत्‍व क्षमता से संपन्‍न इन व्‍यक्तियों का उपयोग अटल नवाचार मिशन के तहत अटल टिंकरिंग लैब्‍स के छात्रों के संरक्षण और मार्गदर्शन के लिए किया जायेगा।


तमिलनाडु में  DMK ने राज्‍यपाल से तत्‍काल विधानसभा सत्र बुलाने की मांग की
तमिलनाडु में मुख्‍य विपक्षी दल के नेता एम के स्‍टालिन ने राज्‍यपाल विद्यासागर राव से विधानसभा का सत्र तत्‍काल बुलाने की मांग की है। आल इंडिया अन्‍ना डी एम के पार्टी के हाशिए पर चल रहे नेता टी टी वी दिनाकरन के समर्थक 19 विधायकों ने मुख्‍यमंत्री ई के पलनीसामी के प्रति अविश्‍वास व्‍यक्‍त करने के बाद उन्‍होंने यह मांग की है। राजनैतिक विश्‍लेषकों के अनुसार यदि ऑल इंडिया अन्‍ना डीएमके के उन्‍नीस विधायक मुख्‍यमंत्री के खिलाफ अपने रूख पर अड़े रहते हैं तो विधानसभा में सरकार को संकट का सामना करना पड सकता है। सरकार विधानसभा में बहुत ही मामूली बहुमत से टिकी हुई है। श्री टी टी वी दिनाकरन के समर्थकों का कहना है कि सदन में उनके समर्थकों की संख्‍या और बढ सकती है जबकि सत्‍तारूढ दल इस दावे को निरर्थक बता रहा है। पार्टी में चल रहा उतार चढाव इस बात का संकेत है कि पन्‍नीरसेल्‍वम और पलानी स्‍वामी धड़ो के विलय के बाद भी पार्टी का संकट अभी दूर नहीं हुआ है। 


कश्‍मीर घाटी में कुपवाड़ा जिले में मुठभेड़ में एक आतंकवादी ढेर
जम्‍मू कश्‍मीर में मंगलवार को सुबह कुपवाडा जिले में हंदवाडा के हिंगीकूट रामहल्‍ल इलाके के घने जंगल में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड में एक अज्ञात आतंकवादी मारा गया। इलाके में मंगलवार को सुबह से ही तलाशी अभियान चल रहा है। अभी भी दो- तीन और आतंकवादियों के छुपे होने की आशंका है। इस बीच,राज्‍य के राज्‍यपाल एन एन वोहरा ने आज गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की और विभिन्‍न मुद्दों पर विचार-विमर्श किया। राज्‍यपाल ने गृह मंत्री को कश्‍मीर घाटी में उत्‍पन्‍न स्थिति और सामान्‍य स्थिति बहाली के लिए उठाए गए कदमों से अवगत कराया।


सुप्रीमकोर्ट  ने बहुमत से तीन तलाक को असंवैधानिक, अवैध और अमान्य बताया 

कई मुस्लिम संस्‍थाओं ने फैसले का स्‍वागत किया
उच्चतम न्यायालय ने मुस्लिम समुदाय में प्रचलित तीन तलाक की प्रथा को असंवैधानिक, अवैध और अमान्य बताया है। शीर्ष अदालत ने तीन-दो के मत से सुनाये गए फैसले में कहा है कि तीन तलाक कुरान के मूल तत्व के खिलाफ है और अस्वीकार्य है। प्रधान न्यायाधीश जे एस खेहर और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर जहां तीन तलाक पर छह महीने के लिए रोक लगाकर सरकार द्वारा नया कानून बनाने के पक्ष में थे, वहीं न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ, न्यायमूर्ति आर एफ नरीमन और न्यायमूर्ति यू यू ललित ने तीन तलाक को संविधान का उल्लंघन करार दिया। मामले की सुनवाई कर रही संविधान पीठ में विभिन्न धार्मिक समुदायों के न्यायाधीश शामिल हैं। ये, सिख, ईसाई, फारसी, हिन्दू और मुस्लिम समुदाय से हैं। पीठ ने तीन तलाक को चुनौती देने वाली सात याचिकाओं पर सुनवाई की। इनमें पांच याचिकाकर्ता मुस्लिम महिलाएं हैं। तीन तलाक की इस प्रथा के तहत पति एक ही बार तीन बार तलाक शब्द बोलकर पत्नी को छोड़ देता है। कभी-कभी फोन पर या संदेश के जरिये तीन बार तलाक बोल दिया जाता है। शीर्ष अदालत ने इस सवाल का स्वत: संज्ञान लिया कि क्या तलाक की स्थिति में या अपने पतियों की अन्य शादियों के कारण मुस्लिम महिलाओं को भेदभाव का सामना करना पड़ता है।   पीठ ने तीन तलाक को चुनौती देने वाली सात याचिकाओं पर सुनवाई की, जिनमें से पांच याचिकाएं मुस्लिम महिलाओं ने दायर की थी


प्रधानमंत्री ने इस फैसले को एतिहासिक बताया 

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने उच्‍चतम न्‍यायालय के फैसले को ऐतिहासिक बताया है। एक ट्वीट संदेश में श्री मोदी ने कहा कि यह फैसला मुस्लिम महिलाओं को समानता देता है और महिला सशक्तिकरण के लिए यह एक मजबूत कदम है। भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने कहा कि इस फैसले से मुस्लिम महिलाओं के लिए गरिमा और समानता के एक नये युग का सूत्रपात होगा। एक बयान में श्री शाह ने कहा कि ये जीत या हार का सवाल नहीं है, बल्कि ये मुस्लिम महिलाओं के मौलिक अधिकार से संबंधित मामला है। सर्वोच्‍च अदालत द्वारा तीन तलाक के मुद्दे पर जो आज ऐतिहासिक फैसला लिया गया है। मैं पार्टी की ओर से इसका स्‍वागत करता हूं। यह फैसला किसी का जय या पराजय नहीं है। यह मुस्लिम महिलाओं के समानता के अधिकार और उनके मूलभूत संवैधानिक अधिकारों का विजय है। महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कहा कि महिलाओं को सुरक्षा और समानता देने के लिए यह एक महत्‍वपूर्ण कदम है। अब तो देखा जाएगा क्‍योंकि उन्‍होंने कहा है ना कि कानून बनाना है तो अब सरकार इसको कंसीडर करेगी। इट्स ए गुड जजमेंट, इट विल गो इट्स ए वन स्‍टेप फॉरवर्ड फॉर जेंडर जस्टिस एंड जेंडर इक्विलेटी एंड इट्स गुड्स फॉर वूमेन। 
सूचना और प्रसारण राज्‍य मंत्री कर्नल राज्‍यवर्धन राठौर ने उन्‍होंने कहा कि प्रत्‍येक महिला बिना किसी भेदभाव के अपने संवैधानिक अधिकारों की रक्षा चाहती है और इस दिशा में यह फैसला अहम भूमिका निभायेगा। मैं सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश का स्‍वागत करता हूं कि ट्रिपल तलाक उन्‍होंने गैर कानूनी बताया है, उसको असंवैधानिक बताया है और पूरे समाज के अंदर चाहे वह कोई भी धर्म हो, कोई भी जाति हो, महिलाओं का सम्‍मान बराबर होना चाहिए। उनको संवैधानिक रूप से बराबर माना गया है। उनको हक वो पूरा मिलना चाहिए।
कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार इस मामले में किसी दबाव में नहीं आयेगी और वह देश में तीन तलाक की प्रथा को खत्‍म करने के लिए प्रतिबद्ध है।


फैसले का स्‍वागत करते हुए कांग्रेस नेता कपिल सिब्‍बल ने कहा कि इससे पर्सनल लॉ की रक्षा होगी और तीन तलाक की प्रथा पर रोक लगेगी।
कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने इसे एक अच्‍छा और सुलझा हुआ फैसला बताया है। यह अच्‍छा फैसला है, अच्‍छा निर्णय है, बहुत सुलझा हुआ निर्णय है, दूरगामी निर्णय है और यह निर्णय सिर्फ इतना ही करता है जो मैजोरिटी का जजमेंट है कि जो सच्‍चाई है, वास्‍तविता है, सही इस्‍लाम है उसको उजागर करता है। कांग्रेस पार्टी प्रवक्‍ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि यह निर्णय मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों की पुष्टि करता है और वर्षो से चले आ रहे भेदभावपूर्ण विकृत प्रथा का शिकार होने से उन्‍हें राहत प्रदान करता है।


ऑल इंडिया मुस्लिम वूमेन पर्सनल लॉ बोर्ड और ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड ने उच्चतम न्यायालय के इस फैसले का स्वागत किया है। ऑल इंडिया मुस्लिम वूमेन पर्सनल लॉ बोर्ड की अध्यक्ष शाइस्ता अम्बर ने इसे देश की मुस्लिम महिलाओं और इस्लाम की जीत बताया है। ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने कहा है कि इस फैसले से मुस्लिम महिलाओं का उत्पीड़न रोकने में मदद मिलेगी।  उधर, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के महासचिव मौलाना वली रहमानी ने इस पर कोई भी टिप्पणी करने से इंकार करते हुए कहा है कि बोर्ड की बैठक बुलाई जायेगी और भावी कार्रवाई के बारे में फैसला किया जायेगा।


अफगानिस्‍तान पर अमीरीकी राणनीति 
अमरीकी राष्‍ट्रपति डोनल्‍ड ट्रम्‍प ने अफगानिस्‍तान की नीति पर राष्‍ट्र के नाम संबोधन में भारत के साथ महत्‍वपूर्ण भागीदारी मजबूत करने की घोषणा की तथा आतंकवादियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह बनने पर पाकिस्‍तान की आलोचना की है। और अमरीका ने अफगानिस्तान से अपनी सेना की जल्दबाजी में वापसी की संभावना से इनकार किया है। राष्ट्र के नाम अपने संदेश में अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने पाकिस्तान को आगाह किया है कि वह अपने यहा आतंकवादियों को छिपने के सुरक्षित ठिकाने नहीं बनाने दे। श्री ट्रम्प ने युद्ध से तबाह अफगानिस्तान में शांति कायम करने में भारत की भूमिका बढ़ाने को भी कहा है। उन्होंने कहा कि अमरीका भारत के साथ महत्वपूर्ण भागीदारी मजबूत करेगा।                                      अमरीकी राष्‍ट्रपति डोनल्‍ड ट्रम्‍प की अफगानिस्‍तान में भारत की अहम भूमिका की मांग के बाद सरकार ने कहा--भारत-अफगानिस्‍तान में शांति और स्थिरता कायम करने के लिए प्रतिबद्ध। भारत ने अफगानिस्‍तान की चुनौतियों और आतंकवादियों को पनाह देने और सीमा पार से उनकी मदद करने जैसे मुद्दों से निपटने के लिए अमरीकी राष्ट्रपति के संकल्प का स्वागत किया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने अफगानिस्‍तान पर राष्‍ट्रपति ट्रंप की रणनीति पर पूछे गए सवालों के जवाब में ये बात कही। उन्‍होंने कहा कि भारत इन मुद्दों पर चिंतित और उद्देश्‍यों में साझीदार है। श्री कुमार ने कहा कि भारत, अफगानिस्‍तान में शांति, सुरक्षा, स्थिरता कायम करने और समृद्धि के लिए अफगानिस्‍तान सरकार और वहां की जनता की मदद के लिए प्रतिबद्ध है। भारत की यह प्रतिक्रिया अमरीकी राष्‍ट्रपति की अफगानिस्‍तान से सैनिकों को जल्‍दी हटाने से इंकार करने के बाद आई है। श्री ट्रंप ने पाकिस्‍तान को यह भी चेतावनी दी है कि अगर वह आतंकवादियों की शरण स्‍थली बना तो उसे परिणाम भुगतने होंगे। श्री ट्रंप ने अफगानिस्‍तान में शांति बहाली के लिए भारत की अहम भूमिका की भी बात कही है।                     

 अफगानिस्‍तान के राष्‍ट्रपति अशरफ गनी ने अमरीकी राष्‍ट्रपति डोनल्‍ड ट्रंप के उस फैसले का स्‍वागत किया है जिसमें उन्‍होंने फिर से सर उठा रहे तालिबान के खिलाफ लड़ाई में सैन्‍य सहायता देने का वचन दिया है। श्री गनी ने आतंकवाद के खतरे के खिलाफ संयुक्‍त लड़ाई में समर्थन के लिए अमरीका का आभार व्‍यक्‍त किया।


AIADMK पार्टी से निकाले गए दिनाकरण के 19 समर्थक विधायकों ने मुख्‍यमंत्री को हटाने की मांग की
तमिलनाडु में ऑल इंडिया अन्‍ना डी.एम.के पार्टी से निकाले गए नेता टी.टी. दिनाकरण के समर्थक 19 विधायक मंगलवार को  चेन्‍नई में राज्‍यपाल विद्यासागर राव से मिले। मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में उन्‍होंने बताया कि ओ. पन्‍नीरसेल्‍वम गुट के पार्टी में विलय के बाद उनका मुख्‍यमंत्री इड्डापड्डी के. पलनीसामी में विश्‍वास नहीं रहा है। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री को हटाने की मांग की है और कहा है कि वे पन्‍नीरसेल्‍वम को उपमुख्‍यमंत्री बनाये जाने के भी खिलाफ हैं। विधायकों ने बताया कि राज्‍यपाल ने उनकी मांगों पर विचार करने का वायदा किया है। एआईए डीएमके सरकार के पास पनीरसेल्‍वम गुट के विलय के बाद भी विधानसभा में अल्‍प बहुमत प्राप्‍त है। मुख्‍य विपक्षी पार्टी और डीएमके के कार्यकारी अध्‍यक्ष एम.के. स्‍टालिन ने इससे पहले कहा था कि जरूरत पड़ी तो अविश्‍वास प्रस्‍ताव लाया जा सकता है।
तमिलनाडु के नये उपमुख्‍यमंत्री ओ पन्‍नीरसेल्‍वम को वित्‍त विभाग के अलावा और अतिरिक्‍त विभाग भी दिये गये हैं। राजभवन की विज्ञप्ति के अनुसार श्री पन्‍नीरसेल्‍वम को योजना, विधायी कार्य, चुनाव और पासपोर्ट तथा मत्‍स्‍य विभाग का कार्य सौंपा गया है। तमिलनाडु के मुख्‍यमंत्री ई के पलनीसामी ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का राज्‍य के विकास के लिए हरसंभव मदद के आश्‍वासन के ट्वीट पर धन्‍यवाद दिया है।


BJP के मुख्यमंत्री 2022 तक नये भारत की परिकल्पना के अनुरूप मिशन-मोड  से काम करें: प्रधानमंत्री 
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का भाजपा शासित राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से नये भारत की परिकल्‍पना को 2022 तक साकार करने के लिये मिशन मोड पर कार्य करने का आह्वान। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय जनता पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कहा है कि वे 2022 तक नये भारत की परिकल्पना को साकार करने के लिए मिशन की भावना से काम करें। प्रधानमंत्री ने भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों और उप-मुख्यमंत्रियों के साथ कल नई दिल्ली में गरीबों के कल्याण के कार्यक्रमों को शीघ्रता से लागू करने और सरकारी योजनाओं में पारदर्शिता बढ़ाने पर जोर दिया। केन्द्रीय मंत्री श्री राजनाथ सिंह और श्रीमती सुषमा स्वराज ने भी बैठक में हिस्सा लिया। बैठक के बाद छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री और भाजपा अध्यक्ष पार्टी के शासन वाली सरकारों के कामकाज की हर तीन महीने बाद समीक्षा करेंगे।  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि बैठक में किसानों की आमदनी दोगुना करने और गरीबों के कल्याणकारी कार्यक्रम लागू करने के लिए मिशन की भावना से काम करने को कहा गया। प्रधानमंत्री जी के 2022 के न्यू इंडिया इस परिकल्पना के अनुसार सभी राज्य मिशन मोड के तहत काम करेंगे। राज्यसभा में कांग्रेस की हठधर्मिता के कारण इस देश के पिछड़े वर्ग के हितों पर कुठाराघात करने का कार्य कांग्रेस ने किया है। कांग्रेस का गरीब विरोधी और पिछड़ा विरोधी चरित्र एक बार पुनः उजागर हुआ है। इस पर एक व्यापक रणनीति बनाकर हमलोग अभियान चलायेंगे।
इस बीच, महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी ने ठाणे जिले के मीराभायंदर नगर निगम की 95 में से 61 सीटें हासिल कर चुनाव जीत लिया है। अकेले चुनाव लड़ने वाली शिवसेना ने 22, कांग्रेस ने 10 और दो सीटें निर्दलीयों ने जीती हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी इस बार खाता तक नहीं खोल पाई।


देश में वर्ष की पहली तिमाही में FDI  में 37 %  की वृद्धि
देश में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के दौरान 37 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। औद्योगिक नीति और संवर्धन विभाग के अनुसार इस अवधि में देश में दस अरब चालीस करोड़ अमरीकी डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश हुआ। सेवाएं, दूरसंचार, व्यापार, कम्प्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर तथा वाहन उद्योग क्षेत्रों में सबसे अधिक विदेशी निवेश हुआ।


एक वर्ष के भीतर पासपोर्ट आवेदकों के पुलिस सत्‍यापन की बजाय ऑनलाइन पुष्टि होगी 
पासपोर्ट बनवाने के लिए अगले वर्ष से वास्तविक पुलिस सत्यापन की आवश्यकता नहीं होगी, क्योंकि केंद्र इस प्रक्रिया को अपराध और अपराध ट्रैकिंग नेटवर्क तथा प्रणाली सी.सी.टी.एन.एस से जोड़ रहा है। केंद्रीय गृह सचिव, राजीव महर्षि सोमवार को नई दिल्ली में एक कार्यक्रम में बताया कि सी.सी.टी.एन.एस एक वर्ष के भीतर विदेश मंत्रालय की पासपोर्ट सेवा से जुड़ सकता है, जिससे पुलिस सत्यापन ऑनलाइन हो जाएगा।


उड़द और मूंग की दाल का आयात  प्रतिबंधित श्रेणी में शामिल 
सरकार ने उड़द और मूंग की दाल के आयात को प्रतिबंधित श्रेणी में शामिल कर लिया है और इनके आयात की अधिकतम सीमा सालाना तीन लाख टन तय कर दी है। इस कदम से घरेलू बाजार में इनकी कीमतों में स्थिरता लाने में मदद मिलेगी। हाल के महीनों में इन दालों की कीमतें न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य से भी नीचे चली गई हैं, जिससे किसानों को नुकसान हो रहा है।


नवजात शिशुओं में सेप्सिस की रोकथाम हेतु किफायती तकनीक खोज

अमरीका स्थित भारतीय डॉक्‍टर ने नवजात शिशुओं में सेप्सिस की रोकथाम के लिए नये उपचार की खोज की है। भारतीय मूल के अमरीकी डॉक्टर पिनाकी पाणिग्रही ने सेप्सिस के उपचार की एक बहुत ही किफायती तकनीक खोज निकाली है। डॉक्टर पाणिग्रही और उनकी टीम के सदस्यों ने अनुसंधान के बाद पाया कि नवजात शिशुओं को प्रो-बायोटिक बैक्टीरिया देने से सेप्सिस का खतरा बहुत हद तक कम हो जाता है। यह बहुत ही महत्वपूर्ण अनुसंधान है और हजारों नवजात शिशुओं को जानलेवा सेप्सिस से बचाने की किफायती तकनीक सिद्ध हो सकती है। सेप्सिस एक जानलेवा बीमारी है, जो संक्रमण के कारण पैदा होती है।  

 

अब अच्छे दिन की बात छोड़ दीजिए, रेल यात्रियों के लिए तो खतरनाक दिन शुरु हो गए हैं:   कांग्रेस 
डॉ. अजय कुमार ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि जैसा मनीष जी ने कहा उस पर मैं ज्यादा चर्चा नहीं करुंगा, सिर्फ कुछ बातें मैं आपसे कहना चाहता हूं। 
आप अच्छे दिन की बात तो छोड़ दीजिए रेल यात्रियों के लिए तो खतरनाक दिन शुरु हो गए हैं। प्रधानमंत्री जी पिछले 3 साल में रेल किराए में 70 प्रतिशत के आस-पास बढ़ोतरी कर चुके हैं। Surge Pricing शुरु की गई। आप फोन के आधार पर दूसरे स्टोशन पर पीजा और चाऊमीन ऑर्डर कर सकते हैं लेकिन जो रेलवे ट्रैक की मरम्मत करने वाले मजदूर हैं वो स्टेशन मास्टर को फोन करने में नाकामयाब रहे। ये मोदी सरकार का असली चेहरा है कि आप ट्रेन में पीजा ऑर्डर कर सकते हैं लेकिन रेलवे ट्रैक पर मरम्मत करने वाले कर्मचारी स्टेशन मास्टर को खबर तक नहीं कर सकते कि आगे रेलवे लाईन पर मरम्मत चल रही है और कृपया आप रेल रोक दें। बुलेट ट्रेन की चर्चा करने वाले आम ट्रैक की मरम्मत नहीं कर पाए।   जैसा कि मनीष तिवारी जी ने बताया कि पिछले 3 साल में 27 रेलवे दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, 360 के आस-पास लोगों की मृत्यु हुई। मोदी जी पूरे देश को हर समय याद दिलाते हैं गुजरात मॉडल ऑफ गवर्नेंस, एक अलग तरह का गवर्नेंस मॉडल है। रोज देश की जनता को जानकारी प्राप्त हो रही है कि इसकी असलियत क्या है।  एक तरफ बड़े-बड़े भाषण देकर रेल बजट को आम बजट में मिला दिया था, देश को ये बता कर कि रेलवे में सुधार होगा लेकिन अब देश की जनता को ये अनुभव हो रहा है कि किस तरह से रेलवे कोच एक मौत के कोच में बदल दिए गए हैं। 

 

हम यह मांग करते हैं कि सुरेश प्रभु जी तुरंत इस्तीफा दें और जिन लोगों की रेल दुर्घटना में मृत्यु हुई है उनको 25 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाए, जो गंभीर घायल हुए हैं उन्हें 5 लाख का मुआवजा दिया जाए। तो इस दुर्घटना से पिछले 3 साल की मोदी सरकार का असली चेहरा पूरी तरह से सबके सामने आ गया है।  ईवेंट मैंनजमेंट, न्यूज साईकिल, किसी बात को किसी और बात में बदल देना, चाहे वो गोरखपुर हो या रायपुर हो, फिर दूसरा न्यूज़ साईकिल शुरु हो जाएगा। लेकिन ये जो दुर्घटनाएं हैं रेलवे की ये देश के लिए बहुत ज्यादा चिंता का विषय है। क्योंकि लगभग 10 लाख लोग हर रोज रेल में यात्रा करते हैं। रेल यात्रा को सुरक्षित करना सरकार का सबसे पहला दायित्व है। लोगों को सुरक्षा प्रदान करने में मोदी सरकार पूरी तरह से नाकामयाब साबित हुई है। 
एक प्रश्न पर कि जिस तरह से मालेगाँव ब्लास्ट के आरोपियों को बेल मिल रही है, आपको क्या लगता है कि क्या ऐजेंसियाँ ठीक तरह से काम नहीं कर पा रही हैं, श्री तिवारी ने कहा कि बेल अदालत के आधिकार क्षेत्र में है। कई मामलों में अदालत पहले दिन ही बेल दे देती है, कई मामलों में अदालत अपने विवेक के अनुसार कुछ दिनों बाद, महिनों के बाद, सालों के बाद, जो तथाकथित जुर्म है, वो कितना संगीन है, उसको संज्ञान में लेकर बेल देती है। तो इसलिए बेल ना तो किसी को गुनेहगार साबित करता है और ना ही बेकसूर। जहाँ तक आपका सवाल है कि क्या NIA अपने कर्तव्य का निर्वहन कर रही है या NIA जो फौजदारी का मुकदमा है उसको कमजोर कर रही है, मामला ट्रायल कोर्ट के सामने है और अगर कहीं पर किन्हीं व्यक्तियों को ये लगता है कि कार्यवाही कानून के अनुसार नहीं हो रही है तो जरुर जो लोग ये चाहते हैं कि गुनेहगार को सजा मिले और बेकसूर को रिहा किया जाए वो उच्चत्तम न्यायालय का दरवाजा खटखटाए और पहले भी ऐसा हो चुका है कि जब ये पाया गया कि miscarriage of justice हो रहा है, कानून अपना काम ठीक से नहीं कर रहा है, तो लोग अदालतों में गए और जो ट्रायल हैं वो एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश में ट्राँसफर किए गए और जो पहले फैसले सुनाए गए थे, उसके बिल्कुल विपरीत फैसले सुनाए गए और उच्च न्यायालयों और उच्चत्तम न्यायालयों ने उस फैसले पर मुहर लगाई। तो इसलिए अभी अदालत की कार्यवाही चल रही है और इसको आप लोगों को भी और भारत के सभी नागरिक हैं जिनका न्यायपालिका में विश्वास है, उसको बहुत ध्यान से अपने संज्ञान में लेना चाहिए। 
एक अन्य प्रश्न पर कि सभी विपक्षी पार्टियों का एक पोस्टर साथ में आया है,
 जिसमें मायावती जी, राहुल गाँधी जी और अखिलेष यादव जी भी हैं, उसको लेकर आप क्या कहेंगे, श्री तिवारी ने कहा कि हमारा तो शुरु से ही ये मानना है कि जिस तरह से इस देश के हालात बनते जा रहे हैं, जितनी भी प्रगतिशील ताकतें हैं, जितनी धर्मनिरपेक्ष ताकतें हैं, जो सही में राष्ट्रवादी ताकतें हैं, उन सबको एक होने की जरुरत है क्योंकि आज लड़ाई सत्ता की नहीं है। लड़ाई यह नहीं है कि 2019 में कौन सरकार बनाएगा या नहीं बनाएगा । आज भारत की अंतरआत्मा की लड़ाई है। जो भारत का ख्याल है वो बरकरार रहना चाहिए, ये उसकी लड़ाई है और उसके लिए सबको एकजुट होने की जरूरत है। 
एक अन्य प्रश्न पर कि जिस तरह से आपने मीडिया को कहा कि वो अपना काम सही से नहीं कर रहा है, क्या ये मीडिया पर सीधा आरोप है आपका, श्री तिवारी ने कहा कि मैं आरोप-प्रतिआरोप में विश्वास नहीं करता लेकिन एक ऐसा व्यक्ति होने के नाते जिसने मीडिया का front भी बहुत नजदीक से देखा है और मीडिया के backend को भी बहुत अच्छे से जानता हूं। जो पिछले 3 वर्ष में हो रहा है, उससे बड़ा आघात भारत का मीडिया अपने आपको नहीं पहुंचा सकता। एक बहुत बड़ा और अपना नुकसान भारत का मीडिया कर रहा है। 
एक अन्य प्रश्न पर कि आपकी सरकार इतने सालों से थी तो आपने मीडिया से क्या सीखाइसके उत्तर में श्री तिवारी ने कहा कि जो हमने सीखा है, हम उसको अभी बयान नहीं करना चाहते क्योंकि जैसा मैंने कहा कि जो संदेश मीडिया की तरफ से इस देश को जा रहा है, वो संदेश मीडिया के लिए अच्छा नहीं है। लेकिन एक बात मैं कहना चाहुंगा कि हम उन जैसे नहीं है, क्योंकि जब मैं सूचना प्रसारण मंत्री बना था, तब मेरे प्रधानमंत्री जी ने मुझे एक ही बात कही थी- That, “our relationship with the media has to be an essay of persuasion and not an essay of coercion”. We have always maintained that and we will continue to maintain the same whatever and howsoever the nature of the media changes.

                                      
 खबरी दुनिया 
---'' 2008 के मालेगांव विस्‍फोट मामले में लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित को सशर्त जमानत मंजूर  मिलने, तमिलनाडु में अन्‍नाद्रमुक के दोनों गुटों का विलय और तीन तलाक मामले पर आज उच्‍चतम न्‍यायालय का फैसला आने की खबर आज के अखबारों की सुर्खियां हैं।''---

---'' दैनिक जागरण लिखता है- कर्नल पुरोहित को उच्‍चतम न्‍यायालय से मिली सशर्त जमानत। हिन्‍दुस्‍तान का कहना है- जमानत पर सियासत। जनसत्‍ता ने लिखा है जमानत आदेश की समीक्षा करेगी थल सेना।''---
 

---'' तमिलनाडु में AIADMK पार्टी के परस्‍पर विरोधी गुटों का विलय हुआ ओ. पनीरसेल्‍वम को उपमुख्‍यमंत्री बनाया गया पर नवभारत टाइम्‍स की टिप्‍पणी है- भाजपा की तमिलनाडु में पैर जमाने की कोशिश रंग लाई। अमर उजाला का भी कहना है- विलय के साथ ही तमिलनाडु में भाजपा की दस्‍तक।''---
 

---'' तीन तलाक की वैधानिकता पर उच्‍चतम न्‍यायालय का फैसला आज आने की खबर दैनिक जागरण और हिन्‍दुस्‍तान सहित कई अखबारों में हैं।''---

---''  राष्‍ट्रीय सहारा ने केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल में फेर-बदल की संभावना व्‍यक्‍त की है- जनता दल यूनाईटेड को दो और अन्‍ना द्रमुक को मिल सकते हैं चार मंत्री पद।''---
 

---'' गोरखपुर के बाद रायपुर के सरकारी अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन की कमी से तीन बच्‍चों की मौत देशबंधु, राजस्‍थान पत्रिका सहित अनेक अखबारों के पहले पन्‍ने पर प्रमुखता से है। दैनिक भास्‍कर की सुर्खी है- नशे में सोता रहा ऑपरेटर, आक्सीजन की कमी से चार बच्‍चों की मौत।'---
 

---'' मनमानी फीस लेने वाले दिल्‍ली के 449 निजी स्‍कूलों के अधिग्रहण के प्रस्‍ताव को उपराज्‍यपाल की मंजूरी देशबंधु और राजस्‍थान पत्रिका की पहली खबर है।''---
 

राजस्थान समाचार विशेष  


राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद से मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे की शिष्टाचार भेंट
   मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने नई दिल्ली में मंगलवार को राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद से राष्ट्रपति भवन में शिष्टाचार भेंट की।  राष्ट्रपति बनने के पश्चात श्री कोविंद के साथ श्रीमती राजे की यह पहली औपचारिक मुलाकात थी। मुख्यमंत्री ने राष्ट्रपति श्री कोविंद को गुलदस्ता भेंट कर अपनी और प्रदेश की जनता की ओर से हार्दिक बधाई तथा शुभकामनाएं दी।             

 

मुख्यमंत्री जयपुर में करेंगी भरतपुर संभाग की जनसुनवाई
जयपुर,    मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे शनिवार 26 अगस्त को प्रातः 10 बजे से 8, सिविल लाइन्स, जयपुर में भरतपुर संभाग के भरतपुर, धौलपुर, करौली और सवाईमाधोपुर जिलों से आए आमजन की समस्याएं सुनेंगी।  जनसुनवाई के दौरान भरतपुर संभाग के सभी जिलों के लोग अपनी समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री से मिल सकेंगे। इसके लिए परिवादी प्रातः 9 बजे जनसुनवाई स्थल पर उपस्थित हों। यदि परिवादी अपने प्रकरण को सम्पर्क हैल्पलाइन 181 पर दर्ज करा लेंगे तो संबंधित विभाग से टिप्पणी भी ली जा सकेगी। परिवादी शिकायत पत्र पर अपना मोबाइल नम्बर और शिकायत पहले से पंजीकृत होने की स्थिति में राजस्थान सम्पर्क पोर्टल या हैल्पलाइन का परिवाद नम्बर भी लिख दें। 
 

प्रदेश के 21 लाख किसानों को अब तक 8700 करोड़ का फसली ऋण वितरित  - सहकारिता मंत्री 

पहली बार 52 हजार नए किसानों को भी वितरित हुआ ऋण 
जयपुर,    सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने मंगलवार को बताया कि खरीफ सीजन के लिए अल्पकालीन ब्याज मुक्त फसली ऋण के 9 हजार करोड़ रुपये के लक्ष्य के विरूद्ध अब तक लगभग 21 लाख किसानों को 8 हजार 700 करोड रुपये का वितरण किया जा चुका है जबकि वर्ष 2016-17 में इसी अवधि के दौरान लगभग 20 लाख 60 हजार किसानों को लगभग 8 हजार 320 करोड़ रुपये का खरीफ सीजन में ब्याज मुक्त ऋण दिया गया था।  उन्होंने बताया कि वर्ष 2017-18 में 3 लाख नये किसानों को भी ऋण वितरण का लक्ष्य रखा है जिसमें से अब तक लगभग 52 हजार नये किसानों को अल्पकालीन फसली ऋण देकर पहली बार लाभान्वित किया है। उन्होंने कहा कि शेष किसानों को रबी सीजन के दौरान जोड़ा जायेगा।  श्री किलक ने बताया कि फसली ऋण वितरण का कार्य तेजी से चल रहा है ताकि किसानों को खेती से जुडी आवश्यकतायें पूरी करने में परेशानी नहीं हो। उन्होंने कहा कि खरीफ सीजन के दौरान लक्ष्य के विरूद्ध शेष रहे अल्पकालीन फसली ऋण वितरण को भी 31 अगस्त तक पूरा कर दिया जायेगा। सहकारिता मंत्री ने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में लगभग 25 लाख किसानों को 15 हजार करोड़ रुपये का ब्याज मुक्त फसली ऋण का वितरण किया जा रहा है जिसमें से 9 हजार करोड़ रुपये खरीफ सीजन में तथा 6 हजार करोड़ रुपये रबी सीजन में किसानों को वितरित करने लक्ष्य रखा है।


आईसीयू में आक्सीजन आपूर्ति की अतिरिक्त व्यवस्था करने के निर्देश
जयपुर,   उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ का असर राजस्थान पर शासन सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री आनंद कुमार ने प्रदेश के समस्त राजकीय चिकित्सा महाविद्यालयों के प्रधानाचार्य एवं नियंत्रक तथा संबद्ध चिकित्सालयों के अधीक्षकों को अस्पतालो की गहन चिकित्सा इकाईयो में पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन आपूर्ति की अतिरिक्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं।  श्री आनंद कुमार मंगलवार को शासन सचिवालय स्थित वीडियों कॉन्फ्रेंस कक्ष से राज्य के समस्त चिकित्सा महाविद्यालयों के प्रधानाचार्य एवं नियंत्रक तथा संबद्ध चिकित्सालयों के अधीक्षकों को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। उन्होंने ऑक्सीजन आपूर्ति एवं आवश्यक उपकरणों हेतु किये गये अनुबंध व निविदा की समय सीमा को देखते हुये निर्बाध रूप से संचालन सुनिश्चित कराने के भी निर्देश दिये। शासन सचिव ने सभी चिकित्सालयों में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए अतिरिक्त व्यवस्था करने एवं संबंधित उपकरणों के समुचित वार्षिक रख-रखाव रखने के निर्देश दिये। उन्होंने चिकित्सालयों में स्वाईन फ्लू एवं मौसमी बीमारियों के निदान, उपचार हेतु आवश्यक औषधियाँ, उपकरण की पर्याप्त व्यवस्था करने के भी निर्देश दिये। साथ ही आइसोलेशन वार्ड, आईसीयू एवं वेन्टीलेटर्स की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिये है।


छात्रवृत्ति आवेदन पत्रों के आक्षेप पूर्ति के लिए 15 सितम्बर तक अंतिम अवसर

इसके बाद स्थायी रूप से आवेदन पत्र होंगे निरस्त 
जयपुर,    उत्तर मैट्रिक छात्रवृत्ति योजनान्तर्गत वर्ष 2015-16 के दौरान राजकीय एवं निजी मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं एवं राज्य के बाहर की राष्ट्रीय स्तर की राजकीय शिक्षा संस्थानों के पाठ्यक्रमों में ऑनलाईन छात्रवृत्ति आवेदन पत्रों में लगे आक्षेपों की पूर्ति के लिए 15 सितम्बर, 2017 तक अंतिम अवसर दिया गया है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के निदेशक डॉ. समित शर्मा ने बताया कि 15 सितम्बर, 2017 तक विद्यार्थी द्वारा सम्बन्धित शिक्षण संस्थाओं को एवं शिक्षण संस्थाओं द्वारा प्रपोजल लॉक कर send proposal के माध्यम से लॉक कर आक्षेपित आवेदन पत्र स्वीकृतकर्ता अधिकारी को ऑनलाईन नहीं करने की स्थिति में 15 सितम्बर, 2017 के बाद छात्रवृत्ति आवेदन पत्रों को स्थायी रूप से निरस्त कर पोर्टल का लिंक निष्कि्रय कर दिया जायेगा।  डॉ. शर्मा ने बताया कि ऑनलाईन आवेदन पत्रों में से कुछ आवेदन पत्रों में आंशिक कमियां होने के कारण स्वीकृतकर्ता अधिकारी एवं शिक्षण संस्थाओं द्वारा आक्षेपित किया गया था। किन्तु अनेक अवसर दिये जाने के उपरान्त अब तक विद्यार्थियों एवं शिक्षण संस्थाओं द्वारा आक्षेपों की पूर्ति कर स्वीकृतकर्ता अधिकारी को प्रेषित नहीं किये गये। ऎसे प्रकरणों में सम्बन्धित विद्यार्थियों एवं संस्थाओं से अपील की जाती है कि आक्षेपों की पूर्ति कर स्वीकृतकर्ता अधिकारी को 15 सितम्बर, 2017 तक ऑनलाईन प्रेषित करें जिससे छात्रवृत्ति का भुगतान किया जा सके। 
 

खेल-जगत

पैरा एथलीट देवेन्‍द्र झाझरिया तथा हॉकी खिलाड़ी सरदार सिंह को राजीव गांधी खेल रत्‍न सम्‍मान। सत्रह खिलाडियों को अर्जुन पुरस्‍कार।  रियो पैरालंपिक के स्वर्ण पदक विजेता भाला फेंक एथलीट देवेंद्र झाझरिया और पूर्व भारतीय हॉकी कप्तान सरदार सिंह को इस वर्ष के राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए चुना गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 29 अगस्त को खेल दिवस के अवसर पर देवेंद्र और सरदार को देश के इस सर्वोच्च खेल पुरस्कार से सम्मानित करेंगे। राष्ट्रपति इसके साथ ही क्रिकेटर चेतेश्वर पुजारा और हरमनप्रीत कौर सहित 17 खिलाड़ियों को प्रतिष्ठित अर्जुन पुरस्कार भी प्रदान करेंगे। इस वर्ष द्रोणाचार्य सम्मान सात प्रशिक्षकों को दिया जाएगा। तीन खिलाड़ियों को आजीवन ध्यानचंद पुरस्कारों से सम्मानित किया जाएगा।
विश्‍व बैडमिन्‍टन चैम्पियनशिप में भारतीय खिलाड़ियों की शानदार शुरूआत।  विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में सोमवार को  भारत ने शानदार शुरुआत की। किदाम्बी श्रीकांत और समीर वर्मा पुरुष सिंगल्स तथा तन्वी लाड महिला सिंगल्स के दूसरे दौर में पहुंच गए। ग्लासगो में अगले दौर में श्रीकांत का मुकाबला आज फ्रांस के लुकास कॉरवी से होगा।
मिक्सड डबल्स में भारत के सात्विक साईराज रैंकीरेडी और मनीषा के. की जोड़ी तथा मिक्सड डबल्स में भारत-मलेशियाई जोड़ी प्राजक्ता सावंत और योगेन्द्रन कृश्नन भी दूसरे दौर में पहुंच गए हैं। 

 

 23 अगस्त, 2017

 

मंगलवार को कैसा रहा शेयर बाजार

रियल्टी और पॉवर शेयर सर्वाधिक घटे
> बीएसई के सेंसेक्स में मंगलवार दिनांक 22 अगस्त, 2017 को पिछले कारोबारी दिन के 31258.85 अंकों के बंद मुकाबले 33.00 अंकों की बढ़त दर्ज की गयी। 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 31393.93 अंकों पर खुला जो ऊपर में 31484.28 अंकों तक जाकर तथा नीचे में 31241.50 अंकों तक आकर अंतत: 0.11 प्रतिशत बढ़कर 31291.85 पर बंद हुआ।
> बीएसई में मंगलवार को मार्केट कैपिटलाइजेशन 128.62 लाख करोड़ रु. रहा जो पिछले कारोबारी दिन 128.83 लाख करोड़ रु. था।
> एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स की 15 कंपनियां बढ़ी तथा 15 कंपनियां घटी ।
> मंगलवार को ब्राड बेस्ड सूचकांकों में एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 50- 0.11 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई-100 सूचकांक 0.04 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- ऑलकैप सूचकांक 0.06 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई- लार्जकैप सूचकांक 0.06 प्रतिशत बढ़े जबकि एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स नेक्स्ट 50- 0.33 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई मिडकैप- 0.41 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई स्मॉलकैप- 0.51 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- 200 सूचकांक 0.05 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- 500 सूचकांक 0.08 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई स्मॉलकैप सेलेक्ट इंडेक्स 0.77 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई मिडकैप सेलेक्ट इंडेक्स- 0.05 प्रतिशत घटे।
> सस्टेनेबिलिटी इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई कार्बनएक्स- 0.09 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई ग्रीनएक्स- 0.19 प्रतिशत बढ़े। <br><br>
> थिमेटिक्स इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई भारत 22 इ़ंडेक्स- 0.01 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई इंडिया इन्फ्रास्ट्रक्चर इंडेक्स 0.93 प्रतिशत घटे जबकि एसएंडपी बीएसई इंडिया मैन्युफेक्चरिंग इंडेक्स 0.11 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई पीएसयू 0.27 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई सीपीएसई 0.52 प्रतिशत बढ़े।
> स्ट्रेटेजी इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई आईपीओ 0.47 प्रतिशत घटा और एसएंडपी बीएसई एसएमई आईपीओ 0.36 प्रतिशत बढ़ा।
> सेक्टरल सूचकांकों मे सर्वाधिक बढ़नेवाले 5 सूचकांक ऑयल एंड गैस (1.31 प्रतिशत), हेल्थकेअर (0.77 प्रतिशत), एनर्जी (0.69 प्रतिशत), फाइनेंस (0.21 प्रतिशत) और बैंकेक्स (0.20 प्रतिशत) रहे।
> सेक्टरल सूचकांकों मे सर्वाधिक घटनेवाले 5 सूचकांक रियल्टी (1.14 प्रतिशत), पॉवर (1.10 प्रतिशत), यूटिलिटीज (0.87 प्रतिशत), ऑटो (0.75 प्रतिशत) और सीडीजीएस (0.70 प्रतिशत) रहे।
> सेंसेक्स में बढ़नेवाली कंपनियों में डॉ. रेड्डीज लैब (2.67 प्रतिशत), ल्युपिन (2.32 प्रतिशत), सनफार्मा (2.24 प्रतिशत), ओएनजीसी (1.11 प्रतिशत), एक्सिस बैंक (1.01 प्रतिशत), विप्रो (0.66 प्रतिशत), एचडीएफसी (0.63 प्रतिशत) और भारती एयरटेल (0.63 प्रतिशत) मुख्य रहीं।
> सेंसेक्स में घटनेवाली कंपनियों में एनटीपीसी (2.56 प्रतिशत), हीरो मोटोकार्प (2.07 प्रतिशत), बजाज ऑटो (1.09 प्रतिशत), लार्सन एंड ट्युब्रो (0.85 प्रतिशत), एशियन पेंट्स (0.49 प्रतिशत), टाटा स्टील (0.43 प्रतिशत), टाटा मोटर्स (0.32 प्रतिशत) और सिपला (0.29 प्रतिशत) मुख्य रहीं।
> आज कुल 120 कंपनियों पर ऊपर का तथा 185 कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा, जिनमें ``बी'' ग्रुप की 5 कंपनियों पर ऊपर का एवं ``बी'' ग्रुप की 17 कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा।
> बीएसई पर कुल 2706 स्क्रिपों के सौदे हुए, जिनमें 921 शेयरों के भाव बढ़े, 1650 शेयरों के भाव घटे और 135 शेयरों के भाव यथावत रहे।
> मंगलवार को इक्विटी में कुल 3,063.18 करोड़ रु. का कारोबार हुआ, जिसमें 26.51 करोड़ शेयरों के लिए 11.40 लाख सौदे हुए।
> आज बीएसई और एनएसई में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने कुल 3,415.48 करोड़ रु. की खरीदारी की और 4,244.17 करोड़ रु. की बिकवाली की। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने कुल 2,842.75 करोड़ रु. की खरीदारी की और 2,407.70 करोड़ रु. की बिकवाली की।
> मंगलवार को बीएसई में करंसी डेरिवेटिव्स में कुल 12,934.96 करोड़ रु. का कारोबार हुआ, जिसमें यूएस डॉलर-रुपये (फ्यूचर्स) में 5,087.12 करोड़ रुपये और यूएस डॉलर -रुपये (ऑप्शन्स) में 7,799.06 करोड़ रुपये का कामकाज हुआ।

 

तमिलनाडु में AIADMK पार्टी के परस्‍पर विरोधी गुटों का विलय हुआ

ओ. पनीरसेल्‍वम को उपमुख्‍यमंत्री बनाया गया।
तमिलनाडु में महत्‍वपूर्ण घटनाक्रम में ऑल इंडिया अन्‍ना डीएमके पार्टी के पलानीसामी और पनीरसेल्‍वम गुट का आज विलय हो गया। पलानीसामी गुट के प्रमुख मुख्‍यमंत्री ईडापड्डी के. पलानीसामी और पनीरसेल्‍वम गुट के प्रमुख पूर्व मुख्‍यमंत्री ओ. पनीरसेल्‍वम ने चेन्‍नई में पार्टी मुख्‍यालय में दोनों गुटों के विलय की घोषणा की। छह महीने पहले कटूतापूर्ण वातावरण में दोनों नेता अलग हो गए थे। हमारे संवाददाता ने बताया है कि दोनों गुटो के बीच कई दिनों तक चली लंबी बातचीत के बाद विलय की सहमति बनी है। विलय के लिए पलानीसामी गुट ने पनीरसेल्‍वम गुट के दो महत्‍वपूर्ण मांगों को आंशिक रूप से मान लिया है। इनमें पार्टी नेता जे जयललिता के निधन की जांच करने और सुश्री वी के शशिकला को पार्टी से अलग करने की मांग शामिल है। अलग-थलग पड़े नेता टी टी वी दीनाकरन के नेतृत्‍व वाला एक अन्‍य गुट हाल की घटना के बाद अपने विकल्‍प तलाश रहा है। विलय के बाद दोनों गुटों के एकजुट होकर ''दो पत्तियों'' वाला चुनाव चिन्‍ह और पुरानी पार्टी का नाम वापस पाने के लिए निर्वाचन आयोग के पास जाने की संभावना है।  विलय के बाद मंत्रिमंडल का विस्‍तार किया गया और श्री पनीरसेल्‍वम को उपमुख्‍यमंत्री बनाया गया है। राज्‍यपाल विद्यासागर राव ने राजभवन में श्री पनीरसेल्‍वम को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। उन्‍हें वित्‍त, आवास, शहरी विकास और कुछ अन्‍य विभाग सौंपे गए हैं। तमिलनाडु मंत्रिमंडल के सदस्‍यों की संख्‍या अब 33 हो गई है।
विलय के बाद मुख्‍यमंत्री ने कहा कि श्री पनीरसेल्‍वम ऑल इंडिया अन्‍ना डीएमके पार्टी के संयोजक होंगे और वे स्‍वयं पार्टी के सहसंयोजक बनेंगे। पनीरसेल्‍वम गुट के के.पी.मुनुसामी और श्री पलानीसामी के समर्थक वैद्यलिंगम को पार्टी का उप संयोजक बनाया गया है। श्री पलानीसामी ने कहा कि विलय न केवल तमिलनाडु की जनता की इच्‍छा थी, बल्कि पार्टी के कार्यकर्ता भी यही चाहते थे। इस बीच, ऑल इंडिया डीएमके प्रेसिडियम के अध्‍यक्ष ई.मधुसूदनन ने घोषणा की कि जल्‍द ही ग्‍यारह सदस्‍यों वाली संचालन समिति गठित की जाएगी। उन्‍होंने कहा कि अब पार्टी का कोई महासचिव नहीं होगा। स्‍वर्गीय जे.जयललिता मुख्‍यमंत्री के अलावा पार्टी की महासचिव भी थी। श्री वैद्यलिंगम ने यह घोषणा की थी। 

विपक्ष के नेता एम.के. स्‍टालिन ने विलय को भाजपा के शह पर खेला गया नाटक बताया। पी एम के पार्टी के संस्‍थापक रामदास ने विलय को राजनीतिक अवसरवाद कहा।
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने तमिलनाडु मंत्रिमंडल में  शामिल हुए ओ.पनीरसेल्‍वम और अन्‍य को बधाई दी है। 

ट्वीट कर श्री मोदी ने आशा व्‍यक्‍त की कि आने वाले वर्षों में राज्‍य विकास की नई ऊंचाई छुएगा। श्री मोदी ने राज्‍य के विकास में केन्‍द्र की हरसंभव सहायता का आश्‍वासन दिया है


कोयला ब्‍लॉक आवंटन  घोटाला:   SC ने सीबीआई जांच में देरी पर नाराजगी जाहिर की
उच्‍चतम न्‍यायालय ने कोयला ब्‍लॉक आवंटन घोटाले के मामलों की जांच में हो रही देरी पर नाराजगी जाहिर की है। केन्‍द्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो इन मामलों की जांच कर रही है। न्‍यायालय ने आज कहा कि इस गति से जांच हुई तो यह कभी पूरी नहीं होगी। न्‍यायालय ने सी बी आई को लम्बित मामलों की यथास्थिति रिपोर्ट देने का आदेश देते हुए अगली सुनवाई नौ अक्‍तूबर की तारीख तय की है।


नेपाल की संसद ने दूसरे संसदीय संशोधन विधेयक को नामंजूर किया
नेपाल में बहु प्रतीक्षित दूसरा संविधान संशोधन विधेयक संसद ने खारिज कर दिया है। इसे आवश्‍यक दो तिहाई बहुमत नहीं मिल सका। विधेयक के प्रावधानों पर चर्चा के बाद स्‍पीकर ओंसारी घारती ने घोषणा की कि विधेयक के पक्ष में 347 सदस्‍यों ने और विपक्ष में 206 सदस्‍यों ने वोट दिया है। कुल 592 सदस्‍यों में से 553 ने मतदान में हिस्‍सा लिया। विधेयक को पारित कराने के लिए दो तिहाई बहुमत यानी 395 वोट चाहिए थे।


सीरिया में रूसी सेना के हवाई हमले में लगभग दो सौ आतंकवादी मारे गए
सीरिया में सीमाई शहर दैर अल जोर में रूसी सेना के हवाई हमले में 200 आतंकवादी मारे गए हैं। रूस के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि आतंकवादी संगठन, इस्‍लामिक स्‍टेट के आतंकवादी रक्‍का और होम्‍स प्रांतों से निकाले जाने के बाद दैर अल जोर के आसपास इकट्ठा हो रहे हैं। मंत्रालय ने कहा कि हवाई हमले में आतंकवादियों के हथियार भी नष्‍ट हुए हैं।


सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के कर्मचारी एक दिन की हड़ताल पर  
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के कर्मचारियों ने बैंकों के पुनर्गठन के सरकार के प्रस्‍ताव के विरूद्ध  एक दिन की हड़ताल पर जाने की धमकी दी है। कर्मचारियों की अन्‍य मांगों में बड़े घरानों के पास बकाए ऋण की माफी नहीं करने, जानबूझकर कर्ज नहीं चुकाने वालों के खिलाफ आपराधिक मामला चलाने और बकाए कर्ज को वसूलने के लिए संसदीय समिति की सिफारिशें लागू करना शामिल हैं।


 किसानों की सुविधा के लिए मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड स्‍थानीय भाषा में छपने चाहिएं: प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने सोमवार को  नई दिल्‍ली में कृषि क्षेत्र की दो परियोजनाओं-मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की प्रगति की समीक्षा की। श्री मोदी ने कहा कि मिट्टी की गुणवत्‍ता में बदलाव का पता लगाने के लिए नमूना यंत्रों और विभिन्‍न क्षेत्रों में मिट्टी के परीक्षण की प्रयोगशालाओं की उचित जांच होनी चाहिए। इससे गुणवत्‍ता सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी। प्रधानमंत्री ने इस बात पर भी जोर दिया कि मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड को स्‍थानीय भाषा में छपने चाहिएं, ताकि किसान उन्‍हें आसानी से पढ़ और समझ सकें। नवीनतम प्रौद्योगिकी को तेजी से स्‍वीकार करने की प्रवृति को प्रोत्‍साहित करते हुए श्री मोदी ने कहा कि मिट्टी की जांच हाथ से इस्‍तेमाल होने वाले यंत्रों के जरिये संभव होनी चाहिए। उन्‍होंने अधिकारियों से आग्रह किया कि वे इस काम में स्‍टार्टअप और उद्यमियों को शामिल करने की संभावनाएं तलाशें। समीक्षा बैठक के दौरान प्रधानमंत्री को बताया गया कि 16 राज्‍यों और केन्‍द्रशासित क्षेत्रों में मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड वितरण का पहला चरण पूरा हो गया है और शेष अन्‍य राज्‍यों में कुछ सप्‍ताह में इसे पूरा कर लिये की संभावना है।  प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बारे में श्री मोदी को जानकारी दी गई कि 2016 के खरीफ मौसम और 2016-17 के रबी मौसम के दौरान सात हजार सात सौ करोड़ रूपये का भुगतान किया गया और इससे 90 लाख से ज्‍यादा किसानों को फायदा हुआ। बैठक में कृषि मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारी, नीति आयोग और प्रधानमंत्री कार्यालय के संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।


गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जल्‍द ही डोकलाम मुद्दे के समाधान आशा व्‍यक्‍त की 
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आशा व्‍यक्‍त की कि जल्‍द ही डोकलाम मुद्दे का समाधान हो जायेगा। सोमवार को नई दिल्‍ली में भारत तिब्‍बत सीमा पुलिस बल के अलंकरण समारोह को संबोधित करते हुए श्री सिंह ने आशा व्‍यक्‍त की कि चीन सकारात्‍मक पहल करेगा और इस झगड़े का समाधान जल्‍दी ही निकाल आयेगा।  मैं आश्वस्त हूं पूरी तरह से एक निश्चित रूप से ये चीन भी अपनी तरफ से कोई सकारात्मक पहल करेगा और शांति कायम। श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वे सभी पड़ोसी देशों को कहना चाहते हैं कि भारत संघर्ष नहीं शांति चाहता है। जीवन में दोस्‍त बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं और पड़ोसियों से अच्‍छे संबंध बहुत महत्‍वपूर्ण है। गृहमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने अपने शपथ ग्रहण समारोह में सभी पड़ोसी देशों को आमंत्रित किया था यह सिर्फ हाथ मिलाने के लिए नहीं बल्कि सभी पड़ोसी देशों के साथ स्‍वस्‍थ संबंध बनाने के लिए था। श्री सिंह ने कहा कि भारत कभी भी आक्रामक नहीं रहा। दुनिया के किसी देश पर आज तक कभी आक्रमण नहीं किया है। हम कभी न आक्रांता रहे हैं और न कभी हम विस्तारवादी रहे हैं और वैसे भी भारत का जहां तक प्रश्न है हर पड़ोसी देश के साथ हम लोग अच्छे रिश्ते बनाकर रखना चाहते हैं। श्री सिंह ने कहा कि अपनी सुरक्षा के साथ कभी समझौता नहीं किया जायेगा। श्री सिंह ने कहा कि सरकार आईटीबीपी में पदोन्‍नति और आवास से संबंधित मुद्दों को सुलझाने में लगी है।


2008 के मालेगांव विस्‍फोट मामले में लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित को  सशर्त जमानत मंजूर 
उच्‍चतम न्‍यायालय ने 2008 के मालेगांव सिलसिलेवार बम विस्‍फोट मामले में आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित को जमानत दे दी है। न्‍यायाधीश आर के अग्रवाल और ए एम सप्रे की खण्‍डपीठ ने बम्‍बई उच्‍च न्‍यायालय के जमानत देने से इंकार करने के आदेश को निरस्‍त कर दिया। उच्‍चतम न्‍यायालय ने कहा कि कर्नल पुरोहित को कुछ शर्तों पर जमानत दी गई है। कर्नल पुरोहित ने अपनी जमानत याचिका रद्द करने के बम्‍बई उच्‍च न्‍यायालय के आदेश को उच्‍चतम न्‍यायालय में चुनौती दी थी। मालेगांव में 29 सितम्‍बर 2008 में हुए बम विस्‍फोट में सात लोग मारे गये थे। इससे पहले विशेष मकोका अदालत ने कहा था कि एटीएस ने साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर, कर्नल पुरोहित और नौ अन्‍य के खिलाफ इस कानून का दुरूपयोग किया था।  आरोपपत्र में प्रज्ञा ठाकुर, कर्नलपुरोहित और सह आरोपी स्‍वामी दयानंद पांडेय को मुख्‍य षडयंत्रकारी बताया गया था। हालांकि राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी ने प्रज्ञा ठाकुर को पिछले साल क्‍लीन चिट दे दी थी।


लद्दाख स्‍काउट को लेह में राष्‍ट्रपति ध्‍वज प्रदान 
राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद सोमवार को एक दिन के दौरे पर लद्दाख में हैं। पद संभालने के बाद दिल्‍ली से बाहर श्री कोविंद का यह पहला दौरा है। 611 शौर्य और विशिष्‍ट सेवा पुरस्‍कारों से सम्‍मानित लद्दाख स्‍काउट को सोमवार को लेह में राष्‍ट्रपति ध्‍वज प्रदान किया गया। इस अवसर पर हुई परेड के समय जम्‍मू कश्‍मीर के राज्‍यपाल और मुख्‍यमंत्री सहित नागरिक और सैन्‍य अधिकारी भी उपस्थित थे। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सभी क्षेत्रों में उल्‍लेखनीय योगदान देने और लद्दाख क्षेत्र में खासकर सियाचिन ग्‍लेशियर पर देश की संप्रभुता की रक्षा के लिए शौर्य और बलिदान के लिए लद्दाख स्‍काउट के जवानों की सराहना की। विश्व के कठिनतम भूभागों और सर्वाधिक असहनीय जलवायु वाले स्थानों में तैनात आप सभी अपनी संख्या की तुलना में कई गुणा अधिक शक्ति का परिचय दिया है। सभी सैनिकों और उनके परिवारजनों को अपनी शुभकामनाएं देता हूं। भारतीय सेना को और पूरे देश को आप सब पर गर्व है। राष्‍ट्रपति ने सभी महत्‍वपूर्ण लड़ाइयों और स्‍वतंत्रता के बाद के सैन्‍य अभियानों में बहादुर सैनिकों के अदम्‍य साहस का प्रदर्शन करने के लिए उनकी प्रशंसा की। राष्‍ट्रपति ने उन्‍हें ध्‍वज भी प्रदान किये।  इस रेजीमेंट का वर्षों का सफर, वीरता, सम्मान और गौरव की गाथाओं से भरा हुआ है। वास्तव में आप लोग ही हिमालय के रक्षक हैं। आपने अनेक युद्धों और ऑपरेशनों में अपनी विशेष पहचान बनाई है और पेशेवर चुनौतियों में भी आपने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। मुझे विश्वास है कि आगे जो मुकाम है उन्हें भी आप जरूर हासिल करेंगे।


उपराष्‍ट्रपति एम वेंकैया नायडू का नागरिक अभिनंदन 
उपराष्‍ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने देश के विकास के लिए संसद और राज्‍य विधानसभाओं को ज्‍यादा सक्रिय रूप से कार्य करने की आवश्‍यकता पर बल दिया है। श्री नायडू आज हैदराबाद में राजभवन में अपने सम्‍मान में आयोजित एक नागरिक अभिनंदन समारोह में बोल रहे थे। यह आयोजन तेलंगाना सरकार ने किया था। उन्‍होंने राजनीतिक दलों और सभी पा‍र्टी नेताओं से एकजुट होकर देश का विकास करने का आह्वान किया।


अनंत कुमार ने मुख्‍यमंत्री सिद्धारमैया पर ब्‍यूरो के दुरूपयोग का आरोप लगाया
केन्‍द्रीय मंत्री अनंत कुमार के नेतृत्‍व में भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने कर्नाटक के राज्‍यपाल वजुभाई वाला से मुलाकात की और उन्‍हें राज्‍य में भ्रष्‍टाचार रोधी ब्‍यूरो के दुरूपयोग को लेकर कांग्रेस सरकार के खिलाफ ज्ञापन सौंपा। बाद में संवाददाताओं से बातचीत में श्री अनंत कुमार ने आरोप लगाया कि मुख्‍यमंत्री सिद्धारमैया अपने विरोधी राजनेताओं को दबाने के लिए ब्‍यूरो का दुरूपयोग कर रहे हैं।


निर्वाचन आयोग और कांग्रेस नेता अहमद पटेल को नोटिस जारी
गुजरात उच्‍च न्‍यायालय ने सोमवार को एक याचिका के आधार पर निर्वाचन आयोग और कांग्रेस नेता अहमद पटेल को नोटिस जारी किया। भारतीय जनता पार्टी के उम्‍मीदवार बलवंत सिंह राजपूत की याचिका में राज्‍यसभा चुनाव में दो विद्रोही कांग्रेस विधायकों के मतों को आयोग द्वारा निरस्‍त किये जाने को चुनौती दी गई है। न्‍यायमूर्ति बेला त्रिवेदी ने आयोग, पटेल और दो अन्‍य उम्‍मीदवारों को भी नोटिस जारी किये। भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह और केन्‍द्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी को भी नोटिस दिये गये हैं।
 

छत्‍तीसगढ़:  सरकारी अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन की कमी से तीन बच्‍चों की मौत
छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री डॉक्‍टर रमन सिंह ने रायपुर में डॉक्‍टर अम्‍बेडकर सरकारी अस्‍पताल में कल तीन बच्‍चों की मौत की तुरंत जांच के आदेश दिए हैं। वार्ड में ऑक्‍सीजन की कमी की मीडिया की खबरों के बीच श्री सिंह ने बच्‍चों की मौत पर दुख व्‍यक्‍त किया है और कहा कि दोषियों को बख्‍शा नहीं जायेगा। राज्‍य सरकार ने निदेशक चिकित्‍सा शिक्षा की अध्‍यक्षता में एक उच्‍चस्‍तरीय समिति से मंगलवार को शाम तक इसकी रिपोर्ट देने को कहा है।
 

मौसम 
बिहार और उत्‍तरप्रदेश में बाढ़ की स्‍थिति चिंताजनक, कुछ और इलाके चपेट में आए

बिहार में बाढ़ की स्थिति अब भी गंभीर बनी हुई है। समस्‍तीपुर और मुजफ्फरपुर में तटबंध टूटने से स्थिति और खराब हो गई है। मौसम विभाग ने राज्‍य के उत्‍तरी भागों में मध्‍यम वर्षा का अनुमान व्‍यक्‍त किया है। हमारी संवाददाता ने बताया है कि बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में अब तक 246 व्‍यक्तियों की मृत्‍यु हुई है।
बाढ़ के कारण सात लाख हेक्‍टेयर भूमि में खड़ी फसल को नुक्‍सान पहुंचा है। एक करोड़ तीस लाख से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। सात लाख पच्‍चीस हजार से भी अधिक लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर ले जाया गया है। हवाई जहाज के जरिये राशन सहित अन्‍य राहत सामग्री पहुंचाई जा रही है। सेना के सात दल, एनडीआरएफ की 28 और राज्‍य आपदा मोचन की 16 टीमें राहत और बचाव कार्यों में लगी हैं। 

उत्‍तर प्रदेश में बाढ़ की स्थिति में कोई सुधार नही
उत्‍तर प्रदेश में बाढ़ की स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ है।  नदियों का जलस्‍तर बढ़ने से राज्‍य के पूर्वी और तराई क्षेत्र बाढ की चपेट में है। राज्य में बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में मरने वालों की संख्या 
69 पहुंच गई है। ढ़ाई हजार से ज्यादा गांवों में 20 लाख से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। 40 हजार से अधिक लोग राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं। स्थानीय नदियों की बाढ़ से देवरिया, कुशीनगर, मऊ, आजमगढ़ और संतकबीर नगर जिलों में कई गांव जलमग्न हो गए हैं। गोरखपुर और आजमगढ के तीन तटबंधों में दरार आ गई है, जिससे कई गांव में पानी फैल गया है। गोरखपुर-वाराणसी और गोरखपुर-लखनऊ राजमार्गों पर यातायात बाधित हो गया है। नेपाल की ओर जाने वाली गोरखपुर से सोनौली राजमार्ग पर सड़क परिवहन पिछले कई दिनों से बाधित है। 


उत्‍कल एक्‍सप्रेस रेल दुर्घटना:  सरकार ने रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों पर की कार्रवाई 
रेल मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश में खतौली में उत्‍कल एक्‍सप्रेस रेल दुर्घटना के सिलसिले में चार अधिकारियों को निलंबित कर दिया है तथा एक का तबादला कर दिया है। इसके अलावा रेलवे बोर्ड के सचिव स्‍तर के एक अधिकारी सहित तीन वरिष्ठ अधिकारियों को अवकाश पर भेज दिया गया है। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष की रिपोर्ट के बाद यह कार्रवाई की गई। इस बीच, रेल दुर्घटना के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज की गई है। उधर, दुर्घटना में घायल 50 से अधिक यात्रियों को चिकित्‍सा उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है। 102 घायलों का इलाज चल रहा है।


ब्रिटेन में अघोषित सम्पत्ति के बारे में कार्ति चिदम्बरम को IT  नोटिस 
आयकर विभाग ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदम्बरम के बेटे कार्ति चिदम्बरम को काले धन की रोकथाम से संबंधित कानून के तहत नोटिस जारी किया है। कार्ति से ब्रिटेन में खरीदी गयी उनकी एक अघोषित सम्पत्ति की जानकारी मांगी गयी है। आयकर विभाग ने कार्ति की मां और पत्नी को भी इसी तरह के नोटिस जारी किये हैं। इन सभी लोगों से भारत और विदेशों में उनकी सभी परिसम्पत्तियों का ब्योरा मांगा गया है।   ब्रिटेन में कार्ति की सम्पत्ति कैम्ब्रिज के बार्टन इलाके में है। आयकर विभाग के नोटिस में कहा गया है कि वर्ष 2015-16 में कार्ति ने इस सम्पत्ति के लिये 78 लाख रुपये का भुगतान किया।


महाराष्‍ट्र: दुष्‍कर्म और हत्‍या जैसे जघन्‍य अपराधों से निपटने हेतु,  तीन त्वरित अदालतें प्र‍स्‍तावित 
महाराष्‍ट्र में दुष्‍कर्म और हत्‍या जैसे जघन्‍य अपराधों से निपटने के लिए प्र‍स्‍तावित चौबीस में से तीन त्वरित अदालतें इस वर्ष मुम्‍बई और ठाणे में स्‍थापित की जाएंगी। न्‍यायिक प्रणाली मज़बूत करने के लिए 14वें वित्‍त आयोग ने राज्‍यों में त्वरित अदालतें स्‍थापित करने की सिफारिश की थी। इसके बाद केन्‍द्र सरकार ने पांच वर्ष में देशभर में एक हज़ार आठ सौ ऐसी अदालतें स्‍थापित करने के आदेश दिए थे। केन्‍द्र सरकार ने इस परियोजना के लिए चार हज़ार एक सौ चौदह करोड़ रुपये का प्रावधान किया है।


IIT प्रवेश परीक्षा JEE एडवांस अगले वर्ष से पूरी तरह ऑनलाइन होगी

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान आई.आई.टी. में संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा (जे.ई.ई.) अगले वर्ष से पूरी तरह ऑन लाइन हो जाएगी। आई.आई.टी. में दाखिले की नीति निर्धारित करने वाले संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा बोर्ड ने रविवार को चेन्‍नई में यह निर्णय लिया। आई.आई.टी मद्रास के निदेशक और संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा बोर्ड के अध्‍यक्ष प्रोफेसर भास्‍कर रामामूर्ति ने एक विज्ञप्ति में बताया कि 2018 से जे.ई.ई एडवांसड की परीक्षा ऑन लाइन मोड में ली जाएगी। इससे पहले केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने जे.ई.ई मेन्‍स के लिए ऑन लाइन का विकल्‍प पेश किया था। ज्ञातव्य है, जे.ई.ई.-मेन्स की परीक्षा देश भर में इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिये और जे.ई.ई-एडवांसड परीक्षा प्रतिष्ठित आई.आई.टी और एन.आई.टी में प्रवेश के लिए ली जाती है। 


इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर ड्रोन,  उड़ानें रुकी 
दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा क्षेत्र में ड्रोन देखे जाने के बाद रविवार को शाम उड़ानें अस्थायी रूप से रोक दी गयीं। एयर एशिया के एक पायलट ने इस ड्रोन को देखा । इसके कारण हवाई अड्डे पर उतरने वाली कुछ उड़ानों के मार्ग बदल दिये गये। इस घटना के चालीस मिनट बाद एयरपोर्ट पर उड़ानें फिर से शुरू कर दी गयीं।


ये है मॉडल गुजरात का बड़ा विशेष : अभिषेक सिंघवी सांसद एवं प्रवक्ता कांग्रेस 
सांसद एवं प्रवक्ता कांग्रेस  अभिषेक सिंघवी  ने शनिवार को नई दिल्ली में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं आपके समक्ष एक विशेष गुजरात मॉडल का उदाहरण देने आया हूं। ये मॉडल गुजरात का बड़ा विशेष है। दो व्यक्ति हैं इस गुजरात मॉडल में, एक का नाम है अमीम जी और एक का नाम है बड़ौत जी। अब इनकी तारीफे सुनें आप। एक पूर्व एसपी थे, महीसागर जिले में, एक उनके जूनियर थे, डिप्टी एसपी, वेस्टर्न रेलवे वड़ौदरा में। अब रोचक बात ये है कि इनकी नियुक्ति से लेकर रिटायरमेंट हुआ, 31 अगस्त 2016 को सेवा निर्वृत्त हो गए पहले व्यक्ति यानी अमीन साहब और दूसरे व्यक्ति 13 अक्टूबर 2016 को सेवा निर्वृत्त होने के बाद इन लोगों को कॉन्ट्रेक्ट पर विशेष नियुक्त किया गया वापस। अब इनमें बहुत महत्वपूर्ण खूबियाँ रही होंगी, जिसके लिए इनको सेवा निर्वृत्त होने के बाद वापस कॉन्ट्रेक्ट पर बड़े ओहदे पर नियुक्त किया गया। अब क्या खूबियाँ थी, पहले व्यक्ति अमीन साहब सोराहबुद्दीन केस और इशरत जहाँ केस,  दोनों में अभियुक्त थे और एक केस में 7 साल जेल में बिता चुके थे अमीन साहब, पर दूसरे वाला जो केस था इशरत जहाँ का केस चल रहा है और उसमें गिरफ्तार होकर 7 या 8 साल जेल में बिता चुके हैं, इसलिए उन्हें सेवा निर्वृत्त होने के बाद पुन: नियुक्त किया गया एक वर्ष के लिए 2016 में। 
दूसरे श्री बड़ौत साहब में विशेषता ये थी कि वो भी इशरत जहाँ केस और सादिक जमाल केस, दो केस हैं, उसमें अभियुक्त थे। गिरफ्तार हुए, कई वर्षों तक जेल में समय बिताया और वो दोनों केस चल रहे हैं। इसमें एक फैक्ट मैं बता दूं कि अमीन साहब एक केस में डिस्चार्ज हो गए यानी सोराहबुद्दीन केस में ,लेकिन इशरत जहाँ केस अभी चल रहा है उनके विरुद्ध और दोनों केस इशरत जहाँ केस और सादिक जमाल केस बड़ौत साहब पर चल रहे हैं।
तो पूरे प्रदेश में और पूरे देश में सेवा निर्वृत्त होने के बाद व्यक्ति के नियुक्त करने के लिए माननीय प्रधानमंत्री जी, उनकी सरकार और प्रदेश सरकार को कोई नहीं मिला। ये दो व्यक्ति मिले और रोचक बात ये है कि इनके जो अभियुक्त थे, ये बहुत संगीन कारनामों के लिए अभियुक्त थे, खून के लिए। आज तक 7 साल जेल में बिताने के बाद इनके विरुद्ध डिसिप्लिनरी एक्शन नहीं लिया गया। आप जानते हैं डिपार्टमेंटल एक्शन अलग होता है, फौजदारी कानून में किसी को अभियुक्त करके कानून में चलाना, प्रोसीडिंग अलग होता है। तो जेल में रहने के बाद डिपार्टमेंटल प्रोसीडिंग जिसके अंतर्गत आप बर्खास्त, डिसमिस हो सकते हैं, इत्यादि-इत्यादि, ये बात हो रही है 2006-2007 की, आज 2017 चल रहा है, 10 वर्ष में नहीं हुआ। स्पेशल कॉन्ट्रेक्ट पर रखा गया।
ये गुजरात मॉडल विशेष नहीं तो क्या है। ये गुजरात मॉडल विशेष इसलिए नहीं है ,जो आपने कारनामे और ऊँचे ओहदे पर व्यक्तियों को आदेश के अंतर्गत किए, उनको आज इनाम दिया जा रहा है। क्या ये प्रवृत्ति सामने नहीं आती कि आपको शाबाशी दी जा रही है सेवा निवृत्त होने के बाद कि आपने किसी का समर्थन किया, आदेशानुसार गैर कानूनी काम किया। तो आज आपकी पीठ थपथपी के साथ इनाम दिया जा रहा है। और उच्चत्तम न्यायालय था, जिसके समक्ष सरकार के वरिष्ठ अधिवक्ता खड़े होकर इसका समर्थन कर रहे थे, अंततोगत्वा जो उच्चत्तम न्यायालय ने कहा अभी 2 दिन पहले की बात है कि आपको हटना पड़ेगा इस पद से ,तो विवशता में आने के बाद ये स्टेटमेंट रिकॉर्ड किया गया कि ठीक है साहब हम आज इस्तीफा दे देंगे, इनका करीब-करीब कार्यकाल निकल गया था। तो इसका मतलब कि कोई भय नहीं है, कानून का ड़र नहीं है, लज्जा नहीं है, कोई लोक-लाज नहीं है। प्रवृत्ति ये है कि हमारे साथ रहो, हम आपको इनाम देंगे, कानून के विरुद्ध काम करो तो हम आपको इनाम देंगे। संविधान, कानून, नियम, लोक-लाज ये कोई अहमियत नहीं रखता इस एनडीए सरकार के लिए, प्रदेश सरकार के लिए, बीजेपी अध्यक्ष के लिए ,प्रधानमंत्री के लिए और पूरे मंत्रिमंडल के लिए। इसलिए हम कड़े से कड़े शब्दों में इसकी भर्त्सना करते हैं।
कर्नाटक से संबंधित एक प्रश्न के उत्तर में श्री सिंघवी ने कहा कि जिनका आप नाम ले रहे हैं उन्होंने गिरफ्तार होकर काफी समय जेल में बिताया है। गिरफ्तार की बात बाद में करें, फौजदारी और एसपी की बात बाद में करे, मुकदमे की बात बाद में करें, मैं आपको पहले याद दिलाऊँ कि लगभग 3 हजार पेज की लोकायुक्त की रिपोर्ट है, जिसमें सब दस्तावेज लगाए हैं, उसके अंतर्गत व्यापक और विस्तारिक रूप से श्री येदुरप्पा के विषय में लिखा गया है। कई फौजदारी मुकदमे इस वक्त लंबित हैं और मैं ये भी याद दिलाऊँ ये काफी पुराने हैं और ये कह देना कि कांग्रेस सरकार है वहाँ पर ये आसानी से छिड़कने वाली बात नहीं होगी। इस पुराने संदर्भ को याद करके कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी और अगर और तथ्य आए हैं तो सरकार का एक स्वतंत्र विभाग है जिसका काम भ्रष्टाचार के विरुद्ध संज्ञान लेना है और अगर ऐसी गतिविधियाँ होती हैं तो ये उस बात से जुड़ती हैं जो आप ये येदुरप्पा जी के लिए और बीजेपी के चाल चरित्र और चेहरे के विषय में कर्नाटक में काफी बार देख चुके हैं।
एक अन्य प्रश्न पर कि आज राहुल गाँधी जी गोरखपुर के दौरे पर हैं और मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि ये कोई पिकनिक स्पॉट नहीं है, श्री सिंघवी ने कहा कि गोरखपुर बिल्कुल पिकनिक स्पॉट नहीं है और मैं सहमत हूं। ये घटना स्थल है बच्चों के मरने का, ये घटना स्थल है अवहेलना का, नेगलिजेंस का, ये घटना स्थल है वर्चुअल मर्डर का और ये घटना स्थल है गैर-जवाबदेही का। तो सही कह रहे हैं कि ये पिकनिक स्पॉट नहीं है। लेकिन ये सब जो घटना स्थल हैं क्या उस प्रदेश के मुख्यमंत्री ही नहीं उस कॉन्सटिट्यूएंसी के सांसद के संज्ञान में है या अभी तक नहीं या सिर्फ वो अभी तक पिकनिक की ही बातें सोच रहे हैं और जो व्यक्ति सहानुभूति, समर्थन, जागरुकता उस क्षेत्र में इस विषय में फैलाता है तो क्या वो पिकनिक करने जा रहा है ये मैं आपके लिए छोड़ सकता हूँ। इतने गंभीर दुखद प्रसंग का मजाक उड़ाया है और एक प्रकार से उन बच्चों की मृत्यु का अपमान किया है माननीय मुख्यमंत्री ने और उस प्रेदश के सांसद हैं। ये घोर अपमान वाली चीज है जो माननीय मुख्यमंत्री जी ने उन मृत बच्चों के विषय में कहा है।
एक प्रश्न पर कि छत्तीसगढ़ में एक बीजेपी नेता की गौ-शाला में बड़ी संख्या में गायें मर गई हैं, उस पर क्या कहेंगे, श्री सिंघवी ने कहा कि मैंने ये पढ़ा और चित्र भी देखे। मुझे ये ध्यान आया कि गौ-रक्षकों को सब जगह जाना चाहिए लेकिन दुर्ग नहीं जाना चाहिए। गौ-रक्षकों को या तो थपथपी करनी चाहिए उन माननीय वर्मा जी की जिनके अधिकार क्षेत्र में ये गौ-शाला आती है और या अपनी पीठ, अपना मुँह मोड़ कर भूल जाना चाहिए कि दुर्ग जैसी जगह भारत में हैं, जहाँ 10 नहीं, 20 नहीं, चर्चित है, प्रकाशित है, 200 गायों की मृत्यु हुई है। जानबूझ कर 20-30 बताया जा रहा है। तो क्या इसके अंतर्गत अपने एक कार्यकर्ता के लिए मृत्युदंड, जहाँ तक मुझे याद आ रहा है वहाँ के मुख्यमंत्री ने परिभाषित किया था, उसी प्रदेश के मुख्यमंत्री ने, क्या आरोप लगाएंगे, मृत्युदंड तो दूर की बात है, क्या आरोप लगाएंगे? ये प्रश्न पूरा देश एक साथ पूछ रहा है। उन बेचारी गायों का ध्यान रखना, उनका पालन पोषण करना, समर्थन देना, वो होती है असली गौ-रक्षा। गौ-रक्षा आम रोड पर चलते हुए अल्पसंख्यकों को जान से मारने को गौ-रक्षा नहीं कहते हैं। लेकिन ये परिभाषा गौ-रक्षा की उस प्रदेश के मुख्यमंत्री जी या बीजेपी समझ सकती है।
अमित शाह जी के बयान पर पूछे गए प्रश्न के उत्तर में श्री सिंघवी ने कहा कि जब ये अहंकार होता है, ऐसी दूरदृष्टि होती है कि ऐसी गलती मैं कभी कर ही नहीं सकता, इसका पूरा विश्वास मुझे हो जाता है तो अंत की शुरुआत हो जाती है और उस अंत की शुरुआत आप सत्तारूढ़ पार्टी में देख रहे हैं, प्रादेशिक स्तर पर। एक न्याय होता है जो सबको संतुलित रखता है। वो इस अहंकार को चूर-चूर करता है और उसके साथ –साथ जितनी भी राजनीतिक पार्टियाँ हैं इस देश में वो एकजुट होकर उस अहंकार को चूर-चूर करने में लगी हैं। मुझे कोई संदेह नहीं है कि आप इन वक्तव्यों से अंत की शुरुआत देख रहे हैं।
प्रधानमंत्री जी ने रोजगार के प्रति जो दलाल शब्द प्रयोग किया है, उस पर क्या कहेंगे? 
श्री सिंघवी ने कहा कि ये बोलने के लिए कि उन्होंने दलालों को बंद किया है, उन्होंने कहा कि रोजगार की कोई समस्या नहीं है इस देश में। तो मैं विनम्रता के साथ उनका ध्यान आकर्षित करना चाहूंगा आदरपूर्वक कि ना तो कांग्रेस है, ना बीजेपी है, CMI , Central Monitoring for Indian Economy देश की सबसे सुविख्यात संस्था है, उसका काम ही आर्थिक आंकड़ों की जांच करना है। उन्होंने प्रकाशित किया है एक आंकडा, जो हमने प्रधानमंत्री जी को दिया है, जिसको वो नजरअंदाज करना चाहते हैं। वो ये है कि सिर्फ 4 महीनों में जनवरी से अप्रैल के दौरान नोटबंदी के बाद उसके दुष्परिणाम के आधार पर 15 लाख रोजगार नष्ट हुए हैं, ये CMI की प्रकाशित रिपोर्ट है। मैं नहीं समझता कि आप दलालों की बात करके CMI की रिपोर्ट को झुठला सकते हैं। लेकिन ये बात भी सही है कि बीजेपी का हर कार्यकर्ता यही कर रहा है। आप नॉर्थ पोल की बात करेंगे तो वो साउथ पोल की बात करके आपको बरगलाना चाहेंगे।
 

खबरी दुनिया 
---'' मुजफ्फरनगर रेल हादसे पर कार्रवाई अखबारों की बड़ी खबर है। नवभारत टाइम्‍स की टिप्‍पणी है- लापरवाही की रेल चलाने वाले अफसरों पर गिरी गाज। हिन्‍दुस्‍तान का कहना है- बोर्ड सदस्‍य, जी एम और डी आर एम छुट्टी पर भेजे गए, चार इंजीनियर सस्‍पेंड।''---
 

---''राजस्‍थान पत्रिका की अहम खबर है- प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने मंत्रियों की शानो-शौकत वाली जीवन शैली पर अंकुश लगाते हुए चेतावनी दी - ठहरने के लिए फाइव स्‍टार होटल न चुनें और सरकारी वाहन का निजी कार्य के लिए न करें इस्‍तेमाल, कार्यालय भत्‍तों के इस्‍तेमाल पर भी चिंता।''---
 

---'' दैनिक जागरण ने वित्‍तमंत्री अरूण जेटली के बयान को प्राथमिकता दी है, नोटबंदी ने कश्‍मीरी अलगाववादी और माओवादियों की कमर तोड़ी। राजस्‍थान पत्रिका का कहना है- बीस अलगाववादी नेताओं की देश-विदेश में दो सौ से अधिक सम्‍‍पत्ति, एन आई ए की जांच में हुआ उजागर, कश्‍मीर में आंदोलन के नाम पर बनाई सम्‍पत्ति।''---
 

---'' नवभारत टाइम्‍स लिखता है चीन से गहराते तनाव के बीच सीमा पर सड़कें बनाने का काम तेज। रक्षा मंत्रालय ने सीमा सड़क संगठन के अधिकार बढ़ाये।''---
 

---'' जनसत्‍ता की अहम खबर है-साध्‍वी यौन शोषण मामले में 25 अगस्‍त को डेरा सच्‍चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ अदालती फैसले की आशंका को देखते हुए कई जिलों में निषेधाज्ञा लागू। हरियाणा के प्रमुख शहरों में अर्धसैनिक बलों की 35 कंपनियां तैनात।''---
 

---'' हिन्‍दुस्‍तान बदहाली शीर्षक से लिखता है- देश में ग्‍यारह हजार लोगों पर एक डॉक्‍टर, यूपी - बिहार बेहाल। जरूरत के हिसाब से नहीं की जाती डॉक्‍टरों की नियुक्ति।''---
 

---'' दिल्‍ली के इंदिरा गांधी हवाई अड्डे पर ड्रोन देखे जाने के बाद विमान परिचालन ठप्‍प होने की खबर अखबारों के मुखपृष्‍ठ पर है। जनसत्‍ता की सुर्खी है- चालीस मिनट तक उड़ान संचालन रहा बंद।''---
 

---'' दैनिक जागरण ने मॉर्गन स्‍टेनली की रिपोर्ट के हवाले से लिखा है- बाहर से पूंजी की जोरदार आवक के कारण अगले महीने चार सौ अरब डॉलर पर पहुंच जाएगा देश का विदेशी मुद्रा भंडार।''---
 

खेल-जगत    
* 
विश्‍व बैडमिंटन चैंपियनशिप सोमवार से स्‍कॉटलैंड के ग्‍लासगो में शुरू। भारत की ओर से रियो ओलंपिक रजत पदक विजेता पी वी सिंधु के नेतृत्‍व में 21 सदस्‍यों का दल प्रतियोगिता में भाग लेगा। 

                                                                                                                                                                                                 *  भारत के किदाम्‍बी श्रीकांत ने विश्‍व बैडमिंटन चैंपियनशिप के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया है। स्‍कॉटलैंड के ग्‍लासगो में पुरूष सिंगल्‍स में आठवीं वरीयता प्राप्‍त श्रीकांत ने रूस के सरगेई सिरंत को 21-13, 21-12 से पराजित किया।
* महिला सिंगल्‍स में 2016 की चाइना ओपन और 2017 की इंडिया ओपन विजेता भारत की शीर्ष खिलाड़ी सिंधु को प्रतियोगिता में चौथी और लंदन ओलपिंक पदक विजेता सायना नेहवाल को 12वीं वरीयता मिली है। 
*  
शपथ भारद्वाज ने इटली के पोरपेटो में जूनियर शॉटगन विश्व कप में डबल ट्रैप मुकाबले में कांस्य पदक जीता। भारत के शपथ भारद्वाज ने इटली के पोरपेटो में आई.एस.एस.एफ. जूनियर शॉटगन विश्‍वकप की डबल ट्रेप स्‍पर्धा में कांस्‍य पदक जीता है। उन्होंने कल फाइनल में 48 शॉट लगाकर कॉस्‍य पदक जीता। इस स्‍पर्धा में ब्रिटेन के जेम्‍स डेडमैन ने स्‍वर्ण और फिनलैंड के मिकी येलोनेन ने रजत पदक जीता।

 

22 अगस्त, 2017

 

सोमवार को कैसा रहा शेयर बाजार

आईटी और टेक शेयर सबसे ज्यादा गिरने के साथ सभी सेक्टर घटे
> बीएसई के सेंसेक्स में सोमवार दिनांक 21 अगस्त, 2017 को पिछले कारोबारी दिन के 31524.68 अंकों के बंद मुकाबले 265.83 अंकों की घटत दर्ज की गयी। 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 31609.93 अंकों पर खुला जो ऊपर में 31641.81 अंकों तक जाकर तथा नीचे में 31220.53 अंकों तक आकर अंतत: 0.84 प्रतिशत घटकर 31258.85 पर बंद हुआ।
> बीएसई में सोमवार को मार्केट कैपिटलाइजेशन 128.83 लाख करोड़ रु. रहा जो पिछले कारोबारी दिन 130.10 लाख करोड़ रु. था।
> एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स की 6 कंपनियां बढ़ी तथा 24 कंपनियां घटी ।
> सोमवार को ब्राड बेस्ड सूचकांकों में एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 50- 0.83 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स नेक्स्ट 50- 1.70 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई-100 सूचकांक 0.97 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई मिडकैप- 1.45 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई स्मॉलकैप- 0.96 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- 200 सूचकांक 0.99 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- 500 सूचकांक 0.98 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- ऑलकैप सूचकांक 1.00 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई- लार्जकैप सूचकांक 0.89 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई स्मॉलकैप सेलेक्ट इंडेक्स 1.14 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई मिडकैप सेलेक्ट इंडेक्स- 1.65 प्रतिशत घटे।
> सस्टेनेबिलिटी इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई कार्बनएक्स- 0.94 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई ग्रीनएक्स- 0.91 प्रतिशत घटे।
> थिमेटिक्स इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई भारत 22 इ़ंडेक्स- 1.00 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई इंडिया इन्फ्रास्ट्रक्चर इंडेक्स 1.68 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई इंडिया मैन्युफेक्चरिंग इंडेक्स 0.84 प्रतिशत, एसएंडपी बीएसई पीएसयू 1.81 प्रतिशत और एसएंडपी बीएसई सीपीएसई 1.83 प्रतिशत घटे।
> स्ट्रेटेजी इंडाइसेज में एसएंडपी बीएसई आईपीओ 0.94 प्रतिशत घटा और एसएंडपी बीएसई एसएमई आईपीओ 0.32 प्रतिशत बढ़ा।
> सेक्टरल सूचकांकों मे सभी सूचकांक घटे जिनमें से सर्वाधिक घटनेवाले 5 सूचकांक आईटी (2.04 प्रतिशत), टेक (1.89 प्रतिशत), हेल्थकेअर (1.61 प्रतिशत), ऑयल एंड गैस (1.57 प्रतिशत) और पॉवर (1.53 प्रतिशत) रहे।
> सेंसेक्स में बढ़नेवाली कंपनियों में एक्सिस बैंक (0.70 प्रतिशत), टीसीएस (0.34 प्रतिशत), महिंद्रा एड महिंद्रा (0.27 प्रतिशत) और एचडीएफसी (0.22 प्रतिशत) मुख्य रहीं।
> सेंसेक्स में घटनेवाली कंपनियों में इंफोसिस (5.37 प्रतिशत), अदानी पोर्ट्स (2.74 प्रतिशत), डॉ. रेड्डीज लैब (2.51 प्रतिशत), सनफार्मा (2.01 प्रतिशत), ओएनजीसी (1.99 प्रतिशत), ल्युपिन (1.91 प्रतिशत), कोल इंडिया (1.75 प्रतिशत), टाटा मोटर्स (1.62 प्रतिशत), बजाज ऑटो (1.60 प्रतिशत), कोटक बैंक (1.45 प्रतिशत), स्टेट बैंक (1.44 प्रतिशत), मारुति (1.39 प्रतिशत) और पॉवर ग्रिड (1.28 प्रतिशत) मुख्य रहीं।
> सोमवार को कुल 154 कंपनियों पर ऊपर का तथा 177 कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा, जिनमें ``बी'' ग्रुप की 17 कंपनियों पर ऊपर का एवं ``बी'' ग्रुप की 11 कंपनियों पर नीचे का सर्किट लगा।
> बीएसई पर कुल 2744 स्क्रिपों के सौदे हुए, जिनमें 863 शेयरों के भाव बढ़े, 1724 शेयरों के भाव घटे और 157 शेयरों के भाव यथावत रहे।
> आज इक्विटी में कुल 3,953.29 करोड़ रु. का कारोबार हुआ, जिसमें 26.89 करोड़ शेयरों के लिए 12.45 लाख सौदे हुए।
> सोमवार को बीएसई में करंसी डेरिवेटिव्स में कुल 18,989.11 करोड़ रु. का कारोबार हुआ, जिसमें यूएस डॉलर-रुपये (फ्यूचर्स) में 5,980.44 करोड़ रुपये और यूएस डॉलर -रुपये (ऑप्शन्स) में 12,970.94 करोड़ रुपये का कामकाज हुआ।

 

उत्कल एक्सप्रेस दुर्घटना का कारण लापरवाही हो सकती है: रेलमंत्रालय 
 रेलमंत्रालय ने संकेत दिया है कि दुर्घटना का कारण लापरवाही हो सकता है। रेलवे बोर्ड के सदस्‍य मोहम्‍मद जमशेद ने बताया कि जांच से पता चल जाएगा कि क्‍या रेल पटरी की मरम्‍मत का कार्य बिना अनुमति के किया जा रहा था। रेल मंत्रालय ने सुरक्षा आयुक्‍त से दुर्घटना की जांच के आदेश दिये हैं, जिसमें तोड़फोड़, तकनीकी चूक और नियमों का उल्‍लघंन किया जाना शामिल हैं। रेलवे संरक्षा आयुक्‍त एस के पाठक ने दुर्घटना की जांच के लिए लोगों से सबूत और सूचनायें मांगी हैं। उत्‍तर रेलवे की एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार लोगों को दिल्‍ली स्थित आयुक्‍त के कार्यालय में लिखित सूचनायें भेजने को कहा गया है।
 

हादसे में किसी आतंकी साजिश की जांच के लिये आतंकरोधी बल की टीम घटनास्थल पर  पहुँची

इससे पहले, रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष को उत्तर प्रदेश में उत्कल एक्सप्रेस दुर्घटना के बारे में सरसरी तौर पर उपलब्ध प्रमाणों के आधार पर आज(20 अगस्तको) ही जिम्मेदारी तय करने का निर्देश दिया था  रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने रेलवे बोर्ड के अध्‍यक्ष को निर्देश दिया था कि वे उत्‍तरप्रदेश में शनिवार (19अगस्त)को  उत्‍कल एक्‍सप्रेस दुर्घटना के बारे में प्राथमिक प्रमाणों के आधार पर जिम्‍मेदारी तय करें। एक ट्वीट संदेश में रेलमंत्री ने कहा है कि वे स्‍थिति पर नज़र रखे हुए हैं और रेलमार्ग पर यातायात बहाल करने के काम को सर्वोच्‍च प्राथमिकता दी जा रही है।     

इस घटना में 23 लोग  मरे और लगभग सौ  घायल हुए थे।    ये रेलगाड़ी पुरी से हरिद्वार जा रही थी। दुर्घटना शनिवार को शाम खतौली के निकट हुई। स्थानीय प्रशासन और रेलकर्मियों ने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और पीएसी की मदद से राहत और बचाव कार्य चलाया। रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि बचाव कार्य समाप्त हो गया है। इस बीच, अम्बाला-मेरठ-सहारनपुर मार्ग पर रेल सेवाएं स्थगित हैं। हादसे में किसी आतंकी साजिश की जांच के लिये आतंकरोधी बल की टीम घटनास्थल पर है। रेलमंत्री ने घटना की जांच के आदेश दिये हैं। श्री सुरेश प्रभु ने मारे गये लोगों के परिजनों के लिये साढ़े तीन-तीन लाख रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की है। गम्भीर रूप से घायलों को पचास-पचास हज़ार रुपये और मामूली रूप से घायलों को पच्चीस-पच्चीस हज़ार रुपये की सहायता राशि दी जाएगी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा की है। ओडिसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्य के मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रूपये और घायलों को पचास-पचास हज़ार रुपये देने की घोषणा की है। 

दुर्घटना की वजह से अम्‍बाला-मेरठ-सहारनपुर मार्ग की सभी रेलगाड़ियां या तो रद्द कर दी गई हैं या उनका मार्ग बदल दिया गया है। करीब 12 यात्री रेलगाड़ियों का रास्‍ता बदला गया है जबकि तीन रेलगाड़िया रद्द की गई हैं 23 मृतकों में से 11 की पहचान कर ली गई है। इनमें से पांच मध्‍यप्रदेश के ग्‍वालियर और मुरैना जिले के हैं जबकि छह उत्‍तरप्रदेश के सहारनपुर, आगरा और मुजफ्फरनगर जिलों से हैं। 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है।  इस सब के बीच,रेल मंत्रालय ने रविवार को  कहा है कि उत्‍कल एक्‍सप्रेस के दुर्घटनास्‍थल पर यात्रियों को राहत पहुंचाने और रेलमार्ग को ठीक करने का कार्य जारी है। रविवार को रात दस बजे तक यातायात बहाल होने की संभावना है। नई दिल्‍ली में रेलवे बोर्ड के सदस्‍य मोहम्‍मद जमशेद ने कहा कि जो लोग इस दुर्घटना के लिए जिम्‍मेदार पाये जायेंगे उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी। अभी रिफोरेस्‍टोरेशन, का कार्यक्रम चल रहा है, वहां के जितने भी अधिकारी और कर्मचारी है, उसमें लगे हुए है।  जैसे ही ये सारा रेस्‍टोरेशन हमारे ट्रैफिक का कम्‍पलीट हो जाता है, उसके बाद ही ये भी निर्णय लिया गया है कि हमारे जो प्राइमाफेसी भी जो लोग दोषी पाए जाएंगे, शाम तक वो रिपोर्ट भी पूरी आ जाएगी। रेलमंत्री के आदेश है उनके ऊपर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। ट्रैक डेमेज हुआ है। 500 मीटर के लगभग वेच्‍ची डेमेज हुई है। ये करते कराते मुझे ऐसा लगता है कि आज 10 बजे तक हमारा ट्रैफिक उस लाइन के ऊपर रेस्‍टोर हो जाएगा। श्री जमशेद ने यह भी बताया कि उत्‍कल एक्‍सप्रेस के यात्रियों को बसों और टैक्‍सियों से उनके गंतव्‍य स्‍थानों के लिए भेज दिया गया है। यह सुनिश्‍चित करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं कि यात्रियों को किसी तरह की परेशानी न हो।
कांग्रेस ने कहा कि उत्‍तरप्रदेश में उत्‍कल एक्‍सप्रेस के पटरी से उतरने की दुखद दुर्घटना रेलवे सुरक्षा में लापरवाही की वजह से हुई है। एक बयान में कांग्रेस प्रवक्‍ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि 2014 में एनडीए सरकार के सत्‍ता में आने के बाद से 27 बड़ी रेल दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। उन्‍होंने कहा कि रेल यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेलवे को तत्‍काल कुछ ठोस सुधार करने होंगे। कांग्रेस ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु के इस्‍तीफे की मांग की। पार्टी ने कहा कि श्री प्रभु को इस दुर्घटना की जिम्‍मेदारी लेनी चाहिए।


भाजपा की तिरंगा यात्रा ने लोगों को नये भारत के निर्माण के लिए एकजुट किया: प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी की तिरंगा यात्राओं को जमीनी स्‍तर पर समर्थन मिला है और वर्ष 2022 तक नव भारत के लिए काम करने के लिए एकजुट हो रहे हैं। श्री मोदी ने  रविवार को ट्विटर पर कहा कि इन यात्राओं में समाज के विभिन्‍न वर्गों के लोग शामिल हो रहे हैं। प्रधानमंत्री ने तिरंगा यात्राओं में शामिल होने वाले सभी लोगों को धन्‍यवाद दिया है और कहा है कि वह देश भर में तिरंगा यात्रायें आयोजित करने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं की ऊर्जा और परिश्रम को नमन करते हैं।


छत्तीसगढ:   राज्य सेवा के 42 पुलिस अधिकारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ती दी
छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य सेवा के 42 पुलिस अधिकारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ती दे दी है। इसमें 15 कस्‍बा निरीक्षक, नौ उप-निरीक्षक और 18 सहायक उप-निरीक्षक शामिल हैं। इन अधिकारियों को उनके खराब कार्य निष्‍पादन और अन्य शिकायतों के कारण समयपूर्व सेवानिवृत्ति दी गई है।
 

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद आज  लद्दाख जाएंगे

राष्‍ट्रपति बनने के बाद उनकी यह पहली लद्दाख यात्रा होगी।  श्री कोविंद इस अवसर पर लद्दाख स्‍कॉउट रेजिमेंट और उसकी पांच सहयोगी इकाईयों को ध्‍वज प्रदान करेंगे। लद्दाख स्‍काउट रेजीमेंट के लिए ये गौरव की बात है कि श्री कोविंद स्‍वयं रेजीमेंट और इसकी पांच सहयोगी इकाईयों को राष्‍ट्रपति ध्‍वज प्रदान करेंगे। लद्दाख स्‍काउट रेजीमेंट भारत की सबसे नई और सुसज्‍जि‍त रेजीमेंट है। समारोह के दौरान जम्‍मू कश्‍मीर के गवर्नर एन.एन. वोहरा, मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती उप-मुख्‍यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह सेनाध्‍यक्ष बि‍पिन रावत के साथ-साथ लद्दाखी समुदाय और स्‍थानीय प्रशासन के लोग मौजूद रहेंगे। 


लुधियाना सिटी सेंटर घोटाले में

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और तीस अन्‍य आरोपियों को क्‍लीन चिट
पंजाब सतर्कता ब्‍यूरो ने लुधियाना सिटी सेंटर घोटाले में मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और तीस अन्‍य आरोपियों को क्‍लीन चिट दे दी है। इस सिलसिले में करीब 10 साल पहले मार्च, 2007 में प्राथमिकी दर्ज की गई थी। वर्ष 2006 में शुरू हुई लुधियाना सिटी सेंटर परियोजना के तहत मल्‍टीप्‍लेक्‍स, मॉल और मनोरंजन पार्क बनाए जाने थे। सतर्कता ब्‍यूरो ने कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और उनके सहयोगियों पर दिल्‍ली की एक कंपनी को फायदा पहुंचाने के लिए नियमों और शर्तों में ढील देने का आरोप लगाया था। 
  

मौसम

बिहार में बाढ़ की स्थिति और खराब हुई। अब तक 216 लोगों की मौत 

बिहार में बाढ़ से 216 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्‍य के 20 जिलों में एक करोड़ 30 लाख लोग प्र‍भावित हैं। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने आज बाढ़ प्र‍भावित इलाकों का दौरा किया और मोतिहारी में एक समीक्षा बैठक की। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने सबसे ज्‍यादा बुरी तरह प्रभावित मुजफ्फरपुर ,सीतामढ़ी शिवहर, पूर्वी और पश्चिमी चंपारण जिलों का हवाई सर्वेक्षण किया। श्री कुमार ने मोतीहारी में समीक्षा बैठक की। उन्‍होंने प्रशासन को राहत और बचाव कार्यों को और तेज करने के लिए निर्देश दिए। इस बीच, 6 लाख 40 हजार लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर भेजा गया है। 4 लाख 25 हजार लोगों को एक हजार 336 राहत शिविरों में रखा गया है। इसके अलावा 7 सेना दल 28 एनडीआरएफ और एसडीआरएफ दल के राहत बल राहत और बचाव कार्यों में लगे हुए हैं जबकि दो सेना के हेलीकाप्‍टर बाढ़ से घिरे पुर्णिया, अररिया, कि‍शनगंज और कटिहार जिलों में सूखी राहत सामग्री गिरा रहे हैं। 


उत्‍तर प्रदेश में बाढ़ की स्थिति लगातार गम्‍भीर, कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर

उत्‍तर प्रदेश  में बाढ़ की स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है। उत्‍तर प्रदेश में बाढ़ से अब तक 69 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्‍य के 24 जिलों में नेपाल की तरफ से आने वाले पानी ने कहर ढा रखा है। केन्‍द्रीय जल आयोग के अनुसार शारदा, घाघरा, राप्‍ती, बूढ़ी राप्‍ती, रोहि‍न और कुआनो नदियां कई स्‍थानों पर खतरे के निशान से ऊपर है। बाढ़ से 20 लाख से ज्‍यादा लोग प्रभावित हैं। पूर्वी उत्‍तर प्रदेश भीषण बाढ़ की चपेट में है। सिद्धार्थ नगर जिले में बाढ़ का सबसे अधिक असर है। सिद्धार्थ नगर जिले के 643 गांव प्रभावित है और 323 गांव बाढ़ के पानी से पूरी तरह से घिरे हुए है। महाराजगंज और गोरखपुर जिलों में रोहि‍न नदी का जलस्‍तर खतरे के निशान से ऊपर है। गोरखपुर शहर से दूसरों जिलों को जाने वाले कई रास्‍ते क्षतिग्रस्‍त हो गए हैं। जिला प्रशासन तटबंधों को बचाने के प्रयास में जुटा है ताकि गोरखपुर शहर को बाढ़ के पानी से बचाया जा सके। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने गोरखपुर, महाराजगंज और कुशीनगर में कल स्थिति का जायज़ा लिया।
असम के मुख्‍य सचिव वी के पिपरसेनिया ने कहा है कि सरकार का पहला कार्य बाढ़ पीड़ित लोगों का पुनर्वास करना है।  खबरों के अनुसार मुख्‍य सचिव ने कहा कि राज्‍य सरकार उन लोगों को नियमानुसार पुनर्वास सुविधाएं उपलब्‍ध करायेगी जिन्‍होंने बाढ़ में अपने मकान, फसल और आजीविका गवां दी हैं।  राज्‍य में बाढ़ से सड़क, स्‍कूल, वन्‍यजीव उद्यान, पुल और तटबंध सहित बुनियादी ढांचे को भारी नुकसान पहुंचा है। असम के मुख्‍य सचिव ने कहा कि प्रशासन बाढ़ से प्रभावित लोगों को पुनर्वास के लिए हरसंभव मदद करेंगी। उन्‍होंने कहा कि स्थिति में सुधार होने के बाद क्षति का आकलन किया जाएगा। मुख्‍य सचिव ने यह भी कहा कि केन्‍द्रीय सरकार को इस बारे में विस्‍तृत जानकारी दी जाएगी। प्रदेश भाजपा के अध्‍यक्ष रंजीत कुमार दास ने भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और केन्‍द्र सरकार असम की बाढ़ से चिंतित है। फिलहाल स्थिति में कुछ और सुधार होने के कारण पिछले 24 घंटों में 20 हजार लोग राहत शिविरों से अपने-अपने घर लौट गये है। बाढ़ से मरने वालों की संख्‍या 63 हो गई है। 


बांग्लादेश:  प्रधानमंत्री शेख हसीना हत्‍या मामले में दस लोगों को मौत की सज़ा 
बांग्लादेश में ढाका की एक अदालत ने अवामी लीग की नेता प्रधानमंत्री शेख हसीना हत्‍या की कोशिश के 17 साल पुराने मामले में दस लोगों को मौत की सज़ा सुनाई। ढाका की एक अदालत ने अवामी लीग की नेता प्रधानमंत्री शेख हसीना हत्‍या की कोशिश से जुड़े 17 साल पुराने एक मामले में दस लोगों को मौत की सज़ा सुनाई है। मुमताज़ बेगम की अध्‍यक्षता वाले ट्राईब्‍यूनल ने आज सुबह यह फैसला सुनाया। नौ अन्‍य को विस्‍फोटकों से जुड़े एक मामले में बीस-बीस साल कैद की सज़ा दी गई है। शेख हसीना की हत्‍या और विस्‍फोटकों से संबंधित दो मामलों में 25 लोगों को आरोपी बनाया गया था।


राष्‍ट्र ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 73वीं जयन्‍ती पर उन्‍हें याद किया

भारत के पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी, कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने आज स्‍वर्गीय राजीव गांधी की समाधि वीरभूमि जाकर उन्‍हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने अपने ट्वीट संदेश में कहा है कि उनकी जयन्‍ती पर देश राजीव गांधी का स्‍मरण करता है और राष्‍ट्र के प्रति उनके योगदान को याद करता है। 


पश्चिम बंगाल में पुलिस थाने पर ग्रेनेड हमले में एक होमगार्ड की मौत 
पश्चिम बंगाल में शनिवार को रात कैलिम्‍पोंग पुलिस थाने पर ग्रेनेड हमले में एक होमगार्ड की मौत हो गई।  कैलिम्‍पोंग के जिला मजिस्‍ट्रेट डॉक्‍टर विश्‍वनाथ के अनुसार , होमगार्ड और सीमा सुरक्षा बल का एक-एक जवान भी हमले में घायल हुआ। घटना के बाद पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी गई है। इससे पहले,शनिवार को दिन में दार्जिलिंग में एक विस्‍फोट हुआ था। पुलिस ने विस्‍फोट के लिए गोरखा जनमुक्ति मोर्चा को जिम्‍मेदार ठहराया है। हालांकि मोर्चे ने आरोप का खण्‍डन किया है। अलग गोरखालैंड राज्‍य की मांग को लेकर पिछले दो महीने से जी.जे.एम. के आह्वान पर अनिश्चितकालीन बंद के बाद पहली बार हमलों की ये घटनाएं हुई हैं।


सरकार को किसी सामूहिक दुष्‍कर्म की पीड़ता के जन्मे बच्‍चे की शिक्षा का दायित्‍व उठाने का निर्देश 
पंजाब और हरियाणा उच्‍च न्‍यायालय ने हरियाणा सरकार को किसी सामूहिक दुष्‍कर्म की पीडिता के जन्मे बच्‍चे की शिक्षा का दायित्‍व उठाने का निर्देश दिया है। न्‍यायालय ने न्‍याय विभाग प्रशासन को कहा है कि ऐसे शिशु को 12वीं कक्षा तक निशुल्‍क शिक्षा दी जाए।


 खबरी दुनिया 
---'' आज के लगभग सभी समाचार पत्रों ने मुजफ्फरनगर रेल हादसे की खबर चित्र सहित सुर्खियों में दी है।हादसे में किसी आतंकी साजिश की जांच के लिये आतंकरोधी बल की टीम घटनास्थल पर  पहुँची। जनसत्ता के शब्द हैं - भयानक हादसा, चीख पुकार मची, नवभारत टाइम्स ने इसमें आतंकी साजिश की आशंका बतायी है। अखबारों ने दुर्घटना के कारणों पर अनुमान के साथ रेल मंत्री के घटना के जांच के आदेश दिए जाने की खबर भी साथ ही दी है। राष्ट्रीय सहारा ने रेल मंत्री के हवाले से लिखा है - लापरवाही करने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई।''---
 

---'' बिहार में कल हुई जनता दल यूनाइटेड की बैठक में केन्द्र की एनडीए सरकार के साथ सहयोगी दल के रूप में स्वीकृति को भी अहमियत दी गई है। हरिभूमि ने लिखा है - नीतीश भी भा.ज.पा. संग। नवभारत टाइम्स ने लिखा है - जे.डी.यू. फिर एन.डी.ए. में, टूट से इनकार। हिन्दुस्तान लिखता है - चार साल बाद फिर एन.डी.ए. में शामिल।''---
 

---'' रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में नई पूंजी डालने की जरूरत संबंधी वक्तव्य को हरि भूमि और कुछ अन्य अखबारों ने अहमियत दी है।''---
---''
सेना अध्यक्ष विपिन रावत का चीन के साथ लगी सीमा पर आज भारत की सुरक्षा तैयारियों का जायजा लेने से संबंधित समाचार अखबारों ने अपने-अपने आकलन के साथ दिए हैं।''---
 

---'' वीर अर्जुन के पहले पन्ने की खबर है - केन्द्र सरकार के कर्मचारियों और अधिकारियों को मिलने वाली आवासीय सुविधा पर लाइसेंस फीस में बढ़ोतरी, सरकारी बंगले से लेकर फ्लैट तक का शुल्क बढ़ाया।''---
 

---'' दैनिक भास्कर ने विशेष खबर में लिखा है - कैंसर, हार्ट अटैक जैसी सात बीमारियों के लिए प्राइवेट अस्पताल छह सौ प्रतिशत तक ज्यादा पैसा वसूलते हैं।''---
 

राजस्थान समाचार विशेष

 

मुख्यमंत्री ने उदयपुर में प्रधानमंत्री यात्रा की तैयारियों का जायजा लिया 
उदयपुर,    मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने रविवार दोपहर उदयपुर पहुंच कर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की प्रस्तावित उदयपुर यात्रा के मद्देनजर चल रही तैयारियों का जायजा लिया। मुख्यमंत्री उदयपुर महाराणा प्रताप हवाई अड्डे से रवाना होकर चित्रकूट नगर स्थित खेलगांव पहुंचीं। उन्होंने खेलगांव में प्रधानमंत्री श्री मोदी के प्रस्तावित कार्यक्रमों के संबंध में मंत्रीगण एवं उच्च अधिकारियों की बैठक ली। श्रीमती राजे ने सभा स्थल का अवलोकन किया एवं जनसभा व अन्य कार्यक्रमों की तैयारियों को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस दौरान गृहमंत्री श्री गुलाबचंद कटारिया, जिला प्रभारी मंत्री श्री धनसिंह रावत, पीडब्ल्यूडी मंत्री श्री यूनुस खान, यूडीएच मंत्री श्री श्रीचंद कृपलानी एवं उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी, विधायकगण, संभागीय आयुक्त श्री भवानी सिंह देथा, पुलिस महानिरीक्षक श्री आनंद श्रीवास्तव, जिला कलक्टर श्री बिष्णुचरण मल्लिक, जिला पुलिस अधीक्षक श्री राजेन्द्र प्रसाद गोयल सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।  इसके बाद मुख्यमंत्री निर्धारित कार्यक्रमानुसार दिल्ली प्रस्थान कर गईं।


बीमारी का अंत कड़वी दवा से, बुराई का अंत कड़वे प्रवचन
से- मुख्यमंत्री
सीकर ,     मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि जिस प्रकार शरीर को रोगमुक्त करने के लिए कड़वी दवा लेनी जरूरी है वैसे ही साधु-संतों के कड़वे प्रवचनों को आत्मसात् कर हम अपने जीवन में बुराइयों को जड़ से दूर कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि क्रांतिकारी राष्ट्रसंत दिगम्बर जैन मुनि तरुणसागर जी अपने कड़वे प्रवचनों के जरिए समाज को नई दिशा देने का महत्वपूर्ण काम कर रहे हैं। श्रीमती राजे रविवार को सीकर के वद्र्धमान विद्या विहार स्कूल में दिगम्बर जैन मुनि तरुणसागर जी की पुस्तक कड़वे प्रवचन के नौवें भाग का लोकार्पण करने के बाद उपस्थित श्रद्धालुओं को संबोधित कर रही थीं। मुख्यमंत्री ने 14 भाषाओं में अनुदित और 7 लाख प्रतियों के साथ गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड में दर्ज इस पुस्तक को सभी के लिए प्रेरणादायी बताते हुए कहा कि पुस्तक में जो छोटी-छोटी बातें कहीं गई हैं वे जीवन में बड़ा महत्व रखती हैं। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि संत-महात्मा समाज को सही दिशा देने का काम करते हैं। उनके उपदेशों का अनुसरण कर हम एक स्वस्थ और सुंदर परिवार, गांव, शहर और देश की रचना कर सकते हैं। श्रीमती राजे ने सीकर में चातुर्मास कर रहे मुनि तरुणसागर जी को श्रीफल भेंट कर उनका आशीर्वाद लिया। उन्होंने चातुर्मास समिति की ओर से ऎसी 5 बहुओं का सम्मान किया जो अपने सास-ससुर की नित्य सेवा करती हैं। पुस्तक के लोकार्पण समारोह में मुख्यमंत्री मंच पर नीचे बैठीं। आयोजकों के आग्रह के बावजूद उन्होंने कुर्सी पर बैठने से इन्कार कर दिया और कार्यक्रम समाप्ति तक मंच पर नीचे ही बैठी रहीं।
वसुन्धरा जी जैसी विनम्रता सभी नेताओं में नहींधार्मिक सभा को संबोधित करते हुए जैन मुनि तरुणसागर जी ने कहा कि मुख्यमंत्री होने के बावजूद श्रीमती राजे में जो विनम्रता एवं साधु-संतों के प्रति जो अगाध सम्मान है वैसी विनम्रता सभी नेताओं में नहीं है। उन्होंने कहा कि शिक्षक और जनप्रतिनिधि मिलकर देश में बड़ा बदलाव ला सकते हैं। इस अवसर पर देवस्थान राज्यमंत्री श्री राजकुमार रिणवा, चिकित्सा राज्यमंत्री श्री बंशीधर बाजिया, सांसद श्री सुमेधानंद, जिला प्रमुख अपर्णा रोलन, विधायक श्री रतन जलधारी एवं श्री गोरधन वर्मा, नगर विकास न्यास अध्यक्ष श्री हरिराम रणवां सहित जिले के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


आठ दिवसीय बहुउद्देश्यीय आयुर्वेद चिकित्सा शिविर सम्पन्
 उदयपुर, 20 अगस्त। नगर निगम एवं आयुर्वेद विभाग के साझे में उदयपुर के रेलवे स्टेशन के समीप मीरा सामुदायिक भवन में आयोजित 8 दिवसीय बहुउद्देश्यीय आयुर्वेद चिकित्सा शिविर का समापन रविवार को गृहमंत्री श्री गुलाबचंद कटारिया के मुख्य आतिथ्य में हुआ। श्री कटारिया ने आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति को समस्त चिकित्सा पद्धतियों में सर्वश्रेष्ठ मानते हुए इसे जीवन में अपनाने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद पद्धति से जीवनयापन करने वाला व्यक्ति सदैव निरोग एवं स्वस्थ रहता है। उन्होंने भारतीय संस्कृति में आयुर्वेद का विशिष्ट महत्व बताते हुए विभिन्न घरेलू नुस्खे भी बताए। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद सबसे प्राचीन चिकित्सा पद्धति है और विभिन्न रोगों के समूल नाश में कारगर है। गृहमंत्री श्री कटारिया ने आयुर्वेद शिविर की आशातीत सफलता एवं लोगों के रूझान को देखते हुए अगला शिविर आगामी जनवरी माह में वृहद् स्तर पर आयोजित करने की बात कही और पूरे राज्य में इसके व्यापक प्रचार-प्रसार के साथ अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित करने हेतु नगर निगम व आयुर्वेद विभाग को प्रभावी प्रयास करने के निर्देश दिए।  समारोह के विशिष्ट अतिथि गुरुवर उत्तम वासुदेव एवं गुरु मां ने न्यूरोथैरेपी को आमजन तक पहुंचाने एवं अधिक से अधिक रोगियों को लाभान्वित करने हेतु नगर निगम व सरकार से जिला मुख्यालयों पर स्थाई न्यूरोथैरेपी केन्द्रों की स्थापना की आवश्यकता बताई।   समारोह की अध्यक्षता करते हुए महापौर ने इस शिविर में सर्वाधिक 17 हजार 500 से अधिक रोगियों के लाभान्वित होने पर इसे ऎतिहासिक उपलब्धि बताया। उन्होंने कहा कि जनहित में होने वाले ऎसे कायोर्ं में नगर निगम सदैव प्रतिबद्ध रहेगा। शिविर प्रभारी डॉ. शोभालाल औदिच्य ने जिले में आयुर्वेद के प्रति लोगों का रुझान देखते हुए सरकार के स्तर पर उदयपुर में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का सुपरस्पेशिलिटी आयुर्वेदिक योग प्राकृतिक चिकित्सालय की स्थापना की आवश्यकता जताई।  डॉ. औदिच्य के अनुसार शिविर में बहिरंग (आउटडोर) में 13,558 लोगों को उपचार व परामर्श निःशुल्क दवा वितरण का लाभ दिया गया। इसी प्रकार अर्श भगन्दर के 90 रोगियों को ऑपरेशन, 52 विविध जीर्ण रोगों से ग्रस्त रोगियों को भर्ती कर उपचार सेवा, 2590 को न्यूरोथैरेपी, 407 को फीजियोथैरपी, 962 को पंचकर्म चिकित्सा का लाभ प्रदान किया गया। इस दौरान 24 हजार से अधिक लोगों को काढ़ा पिलाया गया। 
शिविर के सफल आयोजन एवं उत्कृष्ट कार्य करने पर वैद्य मनोज शर्मा, वैद्य वेणु शर्मा, वैद्य दिलखुश सेठ, वैद्य जयन्त कुमार व्यास, वैद्य लक्ष्मीकांत आचार्य, वैद्य बाबूलाल जैन, वैद्य पुष्करलाल चौबीसा, वैद्य राजीव भट्ट, वैद्य सुहास अग्रवाल, वैद्य नन्दराम त्रिवेदी, वैद्य रेखा पाडलिया, वैद्य भावना सनाढ्य, वैद्य संजीव मैथिल, वैद्य मिथलेश महावर, वैद्य ललित सिंह देवड़ा, विभिन्न देशों से आए 45 न्यूरोथैरेपिस्ट, कम्पाउण्डर अशोक कुमार सहित 8 कम्पाउण्डर एवं परिचारक दलपत सिंह सहित 11 परिचारक, पंचकर्म चिकित्सा मुकेश प्रजापत, योग प्रशिक्षक अशोक जैन, संजय दीक्षित, गोपाल डांगी, फिजियोथैरेपिस्ट डॉ. गजेन्द्र कुमार सालवी, सफाई कर्मचारी सुरेश जमादार को अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया। इस अवसर पर उदयपुर ग्रामीण विधायक श्री फूलसिंह मीणा, उप महापौर श्री लोकेश द्विवेदी, समाजसेवी श्री प्रमोद सामर, श्री दिनेश भट्ट सहित क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि एवं विभिन्न आयुर्वेद विशेषज्ञ मौजूद रहे। अंत में आभार वैद्य मुकेश कटारा ने जताया।


पर्यावरण संरक्षण के लिये अक्षय ऊर्जा अपनाना जरूरीः
 मुख्यमंत्री
जयपुर,   मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने अक्षय ऊर्जा दिवस (20 अगस्त) के अवसर पर प्रदेशवासियों से अपील की है कि वे पर्यावरण संरक्षण के लिए ऊर्जा के अक्षय स्रोतों के उपयोग का संकल्प लें। श्रीमती राजे ने अपने संदेश में कहा कि कोयला, गैस तथा पेट्रोलियम जैसे परम्परागत ऊर्जा के संसाधन सीमित मात्रा में हैं। ऎसे में सुरक्षित भविष्य तथा प्रदूषण मुक्त पर्यावरण के लिए हमें सौर, पवन, बायोमास एवं जैव ईंधन जैसे अक्षय ऊर्जा के स्रोतों का उपयोग करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान अक्षय ऊर्जा के विकास के लिए उपयुक्त क्षेत्र है। राज्य सरकार ने अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए उत्कृष्ट कार्य किया है और हमारे प्रयासों से आज राजस्थान सौर ऊर्जा के क्षेत्र में काफी आगे बढ़ चुका है।


मुख्यमंत्री ने श्री बड़गूजर के निधन पर शोक व्यक्त किया

जयपुर    मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने राजस्थान खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष श्री शंभूदयाल बड़गूजर के निधन पर शोक व्यक्त किया है। श्रीमती राजे शनिवार प्रातः बजाज नगर स्थित श्री बड़गूजर के आवास पहुंची और उनकी पार्थिव देह पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। मुख्यमंत्री ने स्व. बड़गूजर के परिजनों को ढांढस बंधाया। अपने शोक संदेश में श्रीमती राजे ने कहा कि श्री बड़गूजर मिलनसार एवं मृदुभाषी थे। खादी बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में उन्होंने खादी को बढ़ावा देने वाली कई योजनाओं और नवाचारों को लागू किया। इसका फायदा बुनकरों और खादी ग्रामोद्योग से जुड़ी संस्थाओं को मिला।मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत की आत्मा की शांति तथा शोक संतप्त परिजनों को यह आघात सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। 


वसुन्धरा सखी में फ्री और सुरक्षित सफर करेंगी महिलाएं

जयपुर     परिषद की ओर से वसुन्धरा सखी महिला वाहन के नाम से ई-रिक्शा चलाए जा रहे हैं, जिसकी शुरूआत मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने शनिवार को मुख्यमंत्री निवास से हरी झंड़ी दिखाकर की। वसुन्धरा सखी महिला वाहन की पहली सवारी भी श्रीमती राजे बनीं और टोंक नगर परिषद सभापति श्रीमती लक्ष्मी जैन के आग्रह पर वे उसमें बैठीं। मुख्यमंत्री ने महिलाओं को फ्री और सुरक्षित रूप से उनके गंतव्य तक पहुंचाने की इस अभिनव पहल के लिए टोंक नगर परिषद् सभापति की सराहना की और कहा कि अन्य निकायों को भी इस तरह के नवाचार अपनाने चाहिएं, जिसका फायदा लोगों को मिले।  इन ई-रिक्शा में केन्द्र और राज्य सरकार की प्रमुख फ्लैगशिप योजनाओं की जानकारी भी फ्लैक्स तथा एलसीडी पर डिस्प्ले होगी। साथ ही महिलाओं की सुरक्षा के लिए इनमें सीसीटीवी और जीपीएस लगाए गए हैं। इसके अलावा वसुन्धरा सखी हैल्पलाइन, पुलिस कंट्रोल रूम तथा महिला हैल्पलाइन के टेलिफोन नंबर भी प्रदर्शित किए गए हैं। टोंक नगर परिषद् सभापति ने बताया कि प्रथम चरण में फिलहाल तीन ई-रिक्शा वसुन्धरा सखी महिला वाहन के रूप में तैयार किए गए हैं। इन वाहनों को प्रमुख रूप से उन स्थानों पर रखा जाएगा जहां  महिलाओं  की आवाजाही अधिक रहती है। प्रसूताओं आदि की मदद के लिए एक वाहन को जिला अस्पताल के बाहर खड़ा रखा जाएगा।  इस अवसर पर राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती सुमन शर्मा सहित बड़ी संख्या में टोंक से आई महिलाएं एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


झुंझुनू ज़िले में 68 नए ग्रामीण गौरव पथ  हेतु वित्तीय स्वीकृति

झुन्झुनू .  (अमित भारद्वाज)  झुंझुनू ज़िले में 68 नए ग्रामीण गौरव पथ बनाने के लिए वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। ज़िले की प्रत्येक विधान सभा में ये गौरव पथ स्वीकृत किये गए है। स्वीकृत किये गए गौरव पथों में झुन्झुनू विधान सभा में 8, खेतड़ी विधान सभा में 8, मण्डावा विधान सभा में 12, नवलगढ़ विधानसभा में 10, पिलानी विधानसभा में 11, सूरजगढ़ विधान सभा में 8, उदयपुरवाटी विधानसभा में 11 का निर्माण किया जायेगा । स्वीकृत गौरवपथों के निर्माण में 40.80 करोड़ रूपए की लागत लगेगी तथा इनका निर्माण कार्य जल्द ही शुरू किया जायेगा।  सासंद श्रीमती सन्तोष अहलावत ने मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे तथा राज्य के सा.नि.वि. मंत्री श्रीमान युनुस खान का आभार व्यक्त किया। सांसद श्रीमती अहलावत ने कहा कि ज़िले की प्रत्येक ग्राम पंचायत में विकास कार्य किया जा रहा है तथा यह सिलसिला लगातार चलता रहेगा। श्रीमती अहलावत ने कहा कि वे हमेशा प्रयास करती रहेंगी कि ज़िले के विकास के लिए पैसों की कमी नहीं हो तथा बचे हुए शेष ग्रामीण गौरव पथ भी शीघ्र ही स्वीकृत करा लिए जायें।  ज्ञात रहे अभी हाल ही में सांसद श्रीमती संतोष अहलावत ने राज्य के सा.नि.वि. मंत्री श्रीमान युनुस खान से मुलकात कर ज़िले में सड़कों की हालत से अवगत कराया था था आग्रह किया था की ज़िले में सडकों की हालत जल्द से  सुधारी जाये, जिसपर राज्य के सा.नि.वि. मंत्री जी ने तुरंत कार्यवाही करते हुए ज़िले 40.80 करोड़ रूपए की लागत से 68 नए गौरव पथों को स्वीकृति प्रदान की है ।                 

 

 

 

 

उत्तर प्रदेश में रेल दुर्घटना में 12 यात्रियों की मौत,  कई घायल

उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर जिले में खतौली रेलवे स्टेशन के पास रेल दुर्घटना में 12 यात्रियों की मौत हो गयी और कई घायल हुए हैं। घायलों को खतौली, मेरठ और मुजफ्फरनगर के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। मुजफ्फरनगर के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर पी.एस. मिश्र ने बताया है कि डिब्बों से अब तक 12 शवों को निकाला जा चुका है। कई यात्रियों के गंभीर रूप से घायल होने के कारण मृतकों की संख्या अधिक हो सकती है।
हरिद्वार जाने वाली उत्कल एक्सप्रेस के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए। प्रशासन और रेलवे कर्मचारी राहत और बचाव कार्य में जुटे हैं। अम्बाला-मेरठ-सहारनपुर रेल मार्ग पर रेलगाड़ियों का आवागमन रुका हुआ है।
किसी आतंकी घटना की आशंका के मद्देनजर राज्य पुलिस का आतंकरोधी दस्ता घटनास्थल के लिए रवाना हो गया है।
दुर्घटना में दो बोगियां समीप के एक इंटर कॉलेज के भवन से टकरा गई हैं, जबकि एक अन्‍य बोगी पास के एक मकान पर चढ़ गई है। स्‍थानीय प्रशासन और रेलवे प्रशासन द्वारा स्‍थानीय लोगों के सहयोग से राहत और बचाव कार्य जारी है। अंबाला, मेरठ, सहारनपुर रेलवे लाइन पर यातायात रोक दिया गया है। दुर्घटना के पीछे किसी आतंकी साजिश की आशंका के मद्देनजर प्रदेश पुलिस की ए टी एस टी दुर्घटनास्‍थल पर रवाना कर दी गई है। दुर्घटना राहत ट्रेन पहुंच गई है। 45 सदस्‍यीय एन डी आर एफ की टीम और पी ए सी की नौ कंपनियां राहत और बचाव कार्य के लिए पहुंच रही हैं। राज्‍य सरकार ने अपने दो मंत्रियों सतीश महाना और सुरेश राणा को राहत कार्यों की देखरेख के लिए भेजा है। प्रशासनिक, पुलिस और रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी राहत और बचाव कार्यों की निगरानी के लिए घटनास्थल पर मौजूद हैं। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने दुर्घटना के कारणों की जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि लापरवाही के लिए जिम्मेदार कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा घटनास्थल के लिए रवाना हो गये हैं।

 

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि उत्‍तरप्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में हुई रेल दुर्घटना के सिलसिले में राज्‍य सरकार और रेल मंत्रालय प्रभावित लोगों को सहायता प्रदान करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। अपने टवीट संदेशों में श्री मोदी ने कहा है कि रेल दुर्घटना से उनको गहरा दुख पहुंचा है और उनकी संवेदनाएं मृतकों के परिजनों के साथ हैं। श्री मोदी ने कहा कि रेल मंत्रालय स्थिति पर नजदीकी नजर रखे हुए है।


जनता दल युनाइटेड  ने लिया एनडीए में शामिल होने का फैसला

नीतीश कुमार के नेतृत्‍व वाले जनता दल युनाइटेड ने एन डी ए में शामिल होने का फैसला किया है। यह निर्णय पार्टी अध्‍यक्ष नीतीश कुमार की अध्‍यक्षता में पटना में राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में किया गया।  शरद यादव के समर्थकों ने  पटना में एक कार्यक्रम का आयोजन किया।
जनता दल युनाइटेड चार वर्ष बाद राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का फिर से साझेदार बन गया है। बैठक में उपस्थित कार्यकर्ताओं और नेताओं को राष्‍ट्रीय जनता दल के साथ गठजोड़ टूटने और भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन बनाने के बारे में जानकारी दी गई। शरद यादव के समर्थकों ने भी पटना में जन अदालत नाम के एक कार्यक्रम का आयोजन किया। यह गुट भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन के फैसले का विरोध कर रहा है। श्री शरद यादव ने कहा कि नीतीश कुमार ने भाजपा से हाथ मिलाकर बिहार के लोगों के जनादेश का अपमान किया है। उन्‍होंने कहा कि वे अब भी महागठबंधन के साथ हैं। अब ऐसा लग रहा है कि जनता दल युनाइटेड विभाजन की ओर बढ़ रही है।

जनता दल यूनाइटेड के महासचिव के सी त्‍यागी ने कहा है कि पार्टी में कोई विभाजन नहीं है। पटना में पत्रकारों से बातचीत में श्री त्‍यागी ने कहा कि ज्‍यादातर सांसद, विधायक और विधान परिषद के सदस्‍य पार्टी अध्‍यक्ष नीतिश कुमार के साथ हैं। उन्‍होंने कहा कि 19 में से 16 पदाधिकारी नीतिश कुमार के साथ हैं। श्री त्‍यागी ने कहा कि राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शरद यादव के खिलाफ कार्रवाई करने का कोई फैसला नहीं किया गया। हालांकि उन्‍होंने कहा कि पार्टी श्री यादव की गतिविधियों पर नजर रखे हुए है। उन्‍होंने कहा कि शरद यादव यदि 27 अगस्‍त को राष्‍ट्रीय जनता दल की रैली में भाग लेंगे तो पार्टी निश्चित रूप से उनके खिलाफ कार्रवाई करेगी।


भाजपा ने फैसले का स्वागत किया
भारतीय जनता पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह ने जनता दल यूनाइटेड के राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में शामिल होने के फैसले का स्‍वागत किया है। ट्वीट संदेश में श्री शाह ने कहा कि इससे न केवल एनडीए मजबूत होगा, बल्कि बिहार में विकास के एक नए युग की शुरूआत होगी। इससे पहले पटना में जनता दल यूनाइटेड ने अपनी राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में एनडीए में शामिल होने का प्रस्‍ताव पास किया था।
भारतीय जनता पार्टी के अध्‍यक्ष अमित शाह ने कहा है कि राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने देश को एक कारगर सरकार दी है। आज भोपाल में मीडिया से उन्‍होंने कहा कि नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व वाली एन डी ए सरकार पर भ्रष्‍टाचार का कोई आरोप नहीं है। विरोधियों में इतना साहस ही नहीं है कि वे सरकार के खिलाफ भ्रष्‍टाचार के आरोप लगा सकें। श्री शाह ने कहा कि यू पी ए सरकार के दौरान बारह लाख करोड़ रुपये के भ्रष्‍टाचार के मामले सामने आए थे।

 

जीएसटी रिटर्न दाखिल करने की तारीख 5 दिन बढ़ायी
वस्‍तु और सेवा कर प्रणाली के तहत रिटर्न दाखिल करने और कर भुगतान करने की समय सीमा 5 दिन बढ़ा दी गई है। अब इस महीने की 25 तारीख तक रिटर्न जमा किए जा सकते हैं। जुलाई माह के लिए रिटर्न फाइल करने की सीमा पहले कल समाप्‍त होने वाली थी। उन करदाताओं के लिए जिन्‍हें ट्रांस वन फार्म भरने के बाद पिछले कर की वापसी का दावा करना है, वे 28 अगस्‍त तक रिटर्न भर सकेंगे।


रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए देशभर में रोजगार  मेले आयोजित होंगे- श्रम और रोजगार मंत्र
श्रम और रोजगार मंत्री बंडारू दत्‍तात्रेय ने कहा है कि पिछले तीन वर्षों में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत सात करोड़ से अधिक युवाओं को बैंकों से ऋण दिए गए हैं। तेलंगाना में इस तरह के अब तक सोलह मेले आयोजित किये जा चुके हैं। तेलंगाना के निजामाबाद कस्‍बे में एक विशाल रोजगार और ऋण मेले का उदघाटन करते हुए श्रम मंत्री बंडारू दत्‍तात्रेय ने कहा कि युवाओं के लिए रोजगार के अवसर बढ़ाने के उददेश्‍य से देशभर में इस तरह के मेले आयोजित किए जा रहे हैं। निजामाबाद मेले में पूरे तेलंगाना से आए करीब तीन हजार बेरोजगार युवाओं ने भाग लिया। अनेक बैंकों ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत बेरोजगार युवाओं के ऋण प्रस्‍तावों को मंजूरी दी। श्री दत्‍तात्रेय ने युवाओं से सरकारी रोजगार योजनाओं का लाभ उठाने को भी कहा।
 

फंसे हुए ऋणों की समस्या से छुटकारा पाया जायेगा- अरुण जेटली
वित्‍तमंत्री अरुण जेटली ने कर्ज के दबाव से जूझ रही कम्‍पनियों को भरोसा दिलाया है कि बैंकों के फंसे हुए ऋण की समस्‍या के समाधान का उददेश्‍य उनके कारोबार को समाप्‍त करना नहीं हैं, बल्कि उसे बचाना है।
मुंबई में भारतीय उद्योग परिसंघ सम्‍मेलन को सम्‍बोधित करते हुए श्री जेटली ने कहा कि नये दिवालिया कानून में समय पर ऋण नहीं लौटाने वाले कर्जदारों और कर्ज देने वालों के संबंधों में महत्‍वपूर्ण बदलाव किये गये हैं। नये दिवालिया कानून की आवश्‍यकता को स्‍पष्‍ट करते हुए वित्‍तमंत्री ने कहा कि यह कानून लाना इसलिए जरूरी हो गया था कि उनकी ऋण वसूली करने वाले न्‍यायाधिकरण शुरूआती सफलता के बाद अपना काम ठीक से नहीं कर पा रहे थे।
फंसे हुए ऋणों की समस्‍या को एक निश्चित समय सीमा में तेजी से सुलझाने पर जोर देते हुए वित्‍तमंत्री ने आशा व्‍यक्‍त की कि कानून के प्रभावी अमल के लिए निर्धारित समय सीमा का पालन किया जाएगा।  रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने इस अवसर पर सरकारी बैंकों में और पूंजी निवेश की आवश्‍यकता पर जोर दिया ताकि फंसे हुए ऋणों की समस्‍या को निश्चित समय सीमा में निपटाया जा सकेगा।

 

बिहार में दरभंगा, समस्तीपुर, गोपालगंज और सिवान जिलों में बाढ़ से स्थिति और गंभीर
बिहार में दरभंगा, समस्तीपुर, गोपालगंज और सिवान जिलों में कुछ और इलाकों में बाढ़ से स्थिति और गंभीर हो गई है। दरभंगा और समस्तीपुर के बीच रेल पटरियां पानी में डूब जाने से रेल यातायात बाधित हो गया है। राज्य में बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में अब तक 172 लोगों की मृत्यु हुई है। राहत और बचाव कार्य जोर-शोर से चल रहे हैं। चार लाख साठ हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। करीब चार लाख लोग राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 28 और राज्य आपदा मोचन बल की 16 टीमें राहत कार्यों में जुटी हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी राजनैतिक दलों से बाढ़ में फंसे लोगों की मदद के लिए आगे आने को कहा है।
उत्‍तरप्रदेश में भी हालात गंभीर

उत्‍तरप्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने गोरखपुर, महाराजगंज और कुशीनगर जिलों के बाढ़ प्रभावित इलाकों की स्थिति की समीक्षा की। उन्‍होंने इन तीन जिलों के प्रभावित इलाकों का विमान से सर्वेक्षण किया और बाढ़ पीडितों को राहत सामग्री उपलब्‍ध कराई। इन तीन जिलों में बाढ़ की स्थिति अब भी गंभीर बनी हुई है। राप्‍ती, रोहिन और घाघरा जैसी नदियां अभी भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। बाढ़ प्रभावित लोगों को खाने के पैकेट गिराने में वायुसेना के हेलीकॉप्‍टरों की मदद ली जा रही है।
 

20 जुलाई, 2017