राजस्थान  एमपी एमएलए                 

 

 सम्पूर्ण भारत के 

राजस्थान के
सांसद विधायक सांसद विधायक
केंद्रीय मंत्रीमंडल राज्य मंत्रीमंडल

 जनप्रतिनिधियों और जनता के बीच सम्पर्क सेतु

Rajasthan MP MLA

  होम

भारत के बारे में जानें

राजस्थान की सम्पूर्ण जानकारी

कैसे, क्या करें?

उपयोगी सेवाएं

महत्वपूर्ण सरकारी वेबसाइट

हमारे बारे में

अनिता भदेल

भाजपा

विधायक

 

नीचे के लिंकों पर क्लिक करें और जानें अपने विधायक के

जिला

अजमेर

विधानसभा क्षेत्र

अजमेर साउथ

समाचार

आगामी कार्यक्रम

अन्य प्रकाशित समाचार

Media coverage

चुनाव के समय दाखिल किये गये शपथपत्र की प्रि

 

नारी शक्ति पुरस्कार मिलने पर भव्य अभिनंदन  

 27 मार्च, 2017. महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिता भदेल का नारी शक्ति पुरस्कार मिलने पर अजमेर की विभिन्न संस्थाओं द्वारा रविवार को समारोह पूर्वक अभिनंदन किया गया।

 महिला एवं बाल विकास विभाग महिलाओं एवं बच्चों के विकास के लिए सदैव तत्परता के साथ कार्य करता रहेगा। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा कई नवाचार किए गए हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ तथा बालिका समृद्धि योजनाओं चलाई गई है। बेटी बचाने का उत्तरदायित्व सरकार के साथ साथ समाज का भी है। बेटियां मानव सभ्यता एवं संस्कृति का संरक्षण करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। भरतपुर जिले में बेटी बचाने के लिए अतिरिक्त 8 वें फेरे का नवाचार अनुकरणीय है।

श्रीमती भदेल ने कहा कि पीसीपीएनडीटी एक्ट की कार्यवाहियों एवं जागरूकता के कारण राज्य में लिगांनुपात में वृद्धि हुई है। इसमें अभी और सुधार की आवश्यकता है। बेटी के शिक्षित होने से समाज शिक्षित होता है। महिला एवं बाल विकास द्वारा विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही है। विभाग के प्रयासों के साथ समाज का पूर्ण सहयोग मिलने से लक्ष्य आसानी से प्राप्त होगा।

महिला एवं बाल विकास मंत्री ने कहा कि होलिका बुराई के साथ होने के कारण भस्म हो गई जबकि प्रहलाद अच्छाई का वरण करने के कारण सुरक्षित रहा। भारतीय संस्कृति में उत्सव संदेश परक होते हैं। होली के त्यौहार पर सभी को बेटी बचाने का संकल्प लेना चाहिए। श्रीमती भदेल का अखिल भारतीय जांगिड़ ब्राह्मण महासभा, बलाई महासभा, कोली समाज आदि संस्थाओं द्वारा अभिनंदन किया गया।

 

चिकित्सकीय शोध रोग मुक्ति की दिशा में हो

 जयपुर, 27 मार्च। महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिता भदेल ने रविवार को अजमेर के जवाहर लाल नेहरू आयुर्विज्ञान महाविद्यालय एवं रिसर्च सोसायटी फॉर दा स्टडी ऑफ डायबिटिज इन इण्डिया के राजस्थान चैप्टर की अजमेर शाखा के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित डायबिटिज पर आयोजित सेमिनार के समापन समारोह में कहा कि चिकित्सकीय शोध एवं दिशा के दवा निर्माण के स्थान पर रोग मुक्ति होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि दवा के माध्यम से रोग मुक्त करना द्वितीय स्तर पर आना चाहिए प्रथम वरीयता रोग को होने से रोकना होना चाहिए। इसी प्रकार चिकित्सकीय शोधों की दिशा भी रोग मुक्ति होनी चाहिए। मधुमेह के बहुत से साईड इफेक्ट होते है। इससे शारीरिक एवं अन्य क्षमताओं में कमी आने लगती है। मधुमेह के उपचार में आधुनिक चिकित्सा पद्धति के साथ साथ परम्परागत चिकित्सा पद्धतियां भी कारगर है। योग, आयुर्वेद एवं यूनानी जैसी चिकित्सा पद्धतियां भी मधुमेह एवं अन्य जटिल बीमारियों का इलाज करने में सक्षम है। मधुमेह का इलाज करने से बेहतर इससे बचा जाना है।

इस अवसर पर मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आर.के. गोखरू, डॉ. सी.के.मीना, डॉ. मणीराम कुम्हार, डॉ. संजीव माहेश्वरी, डॉ. के.के. पारीक, डॉ. एस.जी. बड़जात्या भी उपस्थित थे।

  Back                                                                                                                                                                                                Home